Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

ऑफ़बीट

संबंध बनाने से होता है कोरोना वायरस? जानिए क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स

Published

on

कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में हड़कंप मचा रखा है। ये वायरस इंसान के बालों से 900 गुना बारीक है जिसकी वजह से हम इसे नंगी आंखों से नहीं देख सकते। सूक्ष्म होने की वजह से यह हमें आसानी से अपना शिकार बना लेता है।

आज हम आपको बताएंगे कि कैसे इस यह वायरस एक इंसान से दूसरे इंसान में फैलता है और किन चीजों का ध्यान रखकर इस वायरस की चपेट में आने से बचा जा सकता है।

भारत सरकार ने जारी की अनलॉक 03 की गाइडलाइन

रोगी व्यक्ति के संपर्क में आने से फैलता है कोरोना?

हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि रोगी व्यक्ति के नजदीक से गुजरने पर आपको कोरना वायरस होगा या नहीं ये 4 चीजों पर निर्भर करता है।

पहला, आप पीड़ित व्यक्ति के कितना नजदीक जाते हैं। दूसरा, क्या पीड़ित व्यक्ति के खांसते या छींकते वक्त उसके ड्रॉपलेट्स आप पर गिरे हैं। तीसरा, आप अपने चेहरे पर हाथ लगा रहे हैं।

चौथा, आप खुद कितने स्वस्थ हैं या आपकी उम्र कितनी है, क्योंकि उम्रदराज लोगों का इम्यून सिस्टम दुरुस्त न होने की वजह से ये उन्हें जल्दी शिकार बनाता है।

पीड़ित व्यक्ति से कितनी दूरी होनी चाहिए?

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के एक प्रवक्ता क्रिश्चियन लिंडमियेर का कहना है कि कोरोना वायरस से पीड़ित व्यक्ति से कम से कम 3 फीट दूर रहना चाहिए।

जबकि ‘द सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन’ के तरफ से जारी दिशा निर्देश में पीड़ित व्यक्ति से 6 फीट की दूरी होना जरूरी बताया है।

कितनी बार संपर्क में आने से फैलता है वायरस?

हेल्थ एक्सपर्ट अभी तक इस नतीजे पर नहीं पहुंचे हैं कि पीड़ित व्यक्ति के कितनी बार संपर्क में आने से आपको कोरोना वायरस हो सकता है. उनका कहना है कि जितना ज्यादा रोगी के नजदीक जाएंगे, खतरा उतना ज्यादा होगा.

शारीरिक संबंध बनाने से फैलता है कोरोना वायरस?

डब्ल्यूएचओ (वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन) का कहना है कि कोरोना वायरस सेक्सुअल ट्रांसमिटेड डिसीज नहीं है. हेल्थ एक्सपर्ट का ये भी कहना है कि पीड़ित व्यक्ति को किस करने से ये निश्चित तौर पर फैलेगा।

#corona #covid19 #lifestyle #WHO

ऑफ़बीट

आखिर मोबाइल में क्यों होता है फ्लाइट मोड का ऑप्शन, वजह जानकर हो जाएंगे हैरान

Published

on

By

आज के दौर में फ़ोन किसी भी कंपनी का हो, उसमें ‘फ्लाइट मोड’ का ऑप्शन होता ही है। लेकिन क्या आपको पता है हम लोगों के फ़ोन में ये ऑप्शन क्यों दिया जाता है? आइए आज हम आपको इस बारे में बताते है।

IMAGE COPYRIGHT: GOOGLE

आपको बता दें, सभी फ़ोन में फ्लाइट मोड पाया जाता है। क्योंकि फोन में विद्युत चुंबक होता है। और फोन में आने वाली विद्युतीय सिग्नल फ्लाइट के सिग्नल को भी हैंग कर सकता है। इसीलिए फोन को फ्लाइट मोड पर रखा जाता है ताकि फोन की विद्युतीय सिग्नल हवाई जहाज के विद्युतीय सिग्नल से ना मिले।

IMAGE COPYRIGHT: GOOGLE

जब मोबाइल को ‘फ्लाइट मोड’ पर रखने से आपके फ़ोन की सारी डेटा सर्विस जैसे WiFi, GSM, ब्लूटूथ आदि डिसेबल हो जाते है। फ्लाइट का लैंडिंग और टेक ऑफ होना दोनों ही संवेदनशील ऑपरेशन है जिनमें बेहद सतर्कता और सावधानी रखने की जरूरत होती है।

Continue Reading

Trending