Connect with us

नेशनल

दो महीने बाद नए नियमों के साथ देश में हवाई सेवा अब फिर से शुरू

Published

on

लॉकडाउन की वजह से देश में रुकी हुई हवाई सेवा अब फिर से चालू हो गई है। दो महीने बाद 25 मई से घरेलू हवाई सेवा शुरू कर दी गई हैं।

25 मई से आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल को छोड़कर पूरे देश में घरेलू विमान सेवा की शुरुआत हो गई है। दिल्ली से सुबह 4:45 पर पुणे के लिए पहली फ्लाइट रवाना भी हो चुकी है।मुंबई एयरपोर्ट से सुबह 6:45 पर पहली फ्लाइट पटना के लिए रवाना हुई।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का हुआ निधन, लंबे समय से दिल्ली के अस्पताल में चल रहा था इलाज

 

ये हवाई सेवाएं करीब दो महीने शुरू हो रही हैं, इसको देखते हुए एयरपोर्ट पर भी खास तैयारियां की गई हैं। एयरपोर्ट पर अब नए नियमों के साथ सोशल डिस्टेंसिंग के नियम लागू किए गए हैं।

एयरपोर्ट पर दो मीटर की दूरी का पालन किया जाना अब ज़रूरी है। इसके अलावा हवाई यात्रा के संबंध में राज्य सरकारों ने अलग-अलग गाइडलाइंस जारी की हैं।

नेशनल

मुंबई हमले का जख्म भारत भूल नहीं सकता: पीएम मोदी

Published

on

नई दिल्ली। मुंबई में हुए आतंकी हमले की आज 12वीं बरसी है। 26 नवंबर 2008 को समुद्र के रास्ते पाकिस्तान से आए 10 आतंकवादियों ने देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में ऐसा खूनी खेल खेला कि 200 के करीब मासूम जिंदगियां मौत के आगोश में समां गईं। पीएम मोदी ने इस दिन को याद करते हुए कहा कि 26/11 मुंबई हमले का जख्म भारत भूल नहीं सकता और आज का भारत नई नीति के साथ आतंकवाद का मुकाबला कर रहा है।

पीएम मोदी ने गुजरात के केवड़िया में 80वें अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों के सम्‍मेलन के समापन सत्र को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि आज की तारीख देश पर सबसे बड़े आतंकी हमले के साथ जुड़ी हुई है। 2008 में पाकिस्तान से आए आतंकियों ने मुंबई पर धावा बोल दिया था। इस हमले में अनेक लोगों की मृत्यु हुई थी। अनेक देशों के लोग मारे गए थे।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “आज की तारीख, देश पर सबसे बड़े आतंकी हमले के साथ जुड़ी हुई है। 2008 में पाकिस्तान से आए आतंकियों ने मुंबई पर धावा बोल दिया था। इस हमले में अनेक भारतीयों की मृत्यु हुई थी। कई और देशों के लोग मारे गए थे। मैं मुंबई हमले में मारे गए सभी को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “मैं आज मुंबई हमले जैसी साजिशों को नाकाम कर रहे, आतंक को एक छोटे से क्षेत्र में समेट देने वाले, भारत की रक्षा में प्रतिपल जुटे हमारे सुरक्षाबलों का भी वंदन करता हूं।

Continue Reading

Trending