Connect with us

प्रादेशिक

शाहीन बागः प्रदर्शनकारियों से बात करे केंद्र सरकार, सुप्रीम कोर्ट ने नियुक्त किया वार्ताकार

Published

on

नई दिल्ली। संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में पिछले 64 दिनों से जारी प्रदर्शन को लेकर सोमवार को सर्वोच्च न्यायालय में सुनवाई हुई।

इस मामले की सुनवाई जस्टिस संजय कौशल, जस्टिस के.एम. जोसेफ की बेंच कर रही है। सुनवाई के दौरान उच्चतम न्यायालय ने कहा कि लोकतंत्र हर किसी के लिए, ऐसे में विरोध के नाम पर सड़क जाम नहीं कर सकते हैं। इस मसले पर अब अगले सोमवार को सुनवाई होगी।

शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से बात करने के लिए अदालत ने एक वार्ताकार नियुक्त किया है। वरिष्ठ वकील संजय हेगड़े के साथ वकील साधना रामचंद्रन को वार्ताकार के तौर पर नियुक्त किया है। इसके साथ ही वजहत हबीबुल्लाह, चंद्रशेखर आजाद इस दौरान वार्ताकारों की मदद करेंगे।

सुप्रीम कोर्ट की ओर से कहा गया कि हमारी चिंता सीमित है, अगर हर कोई सड़क पर उतरने लगेगा तो क्या होगा? सुप्रीम कोर्ट ने अब इस मामले में दिल्ली पुलिस के कमिश्नर को हलफनामा दायर करने को कहा है।

प्रादेशिक

पति ने हंसिए से चीर डाला पत्नी का पेट, वजह है ये

Published

on

बदायूं। उत्तर प्रदेश के बदायूं में एक शख्स ने अपनी पत्नी का पेट हँसिये से सिर्फ इसलिए चीर दिया क्योंकि उसे लग रहा था फिर उसे बेटी ही होगी। उसकी पहले से ही पांच बेटियां हैं। महिला का बरेली के एक अस्पताल में इलाज चल रहा है। उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है।

पुलिस के अनुसार, 43 वर्षीय मजदूर पन्नालाल नशे में धुत होकर घर आया और उसने पत्नी को गर्भपात कराने के लिए कहा। जब अनीता ने इनकार कर दिया तो पन्नालाल ने उसके पेट पर हंसिये से हमला कर दिया। आसपास के लोग घटनास्थल पर पहुंचे और उन्होंने अनीता को जिला अस्पताल पहुंचाया।

अनीता के छोटे भाई रवि कुमार ने कहा, “मेरे जीजा मेरी बहन को 5 बेटियों को जन्म देने के कारण अक्सर मारते थे। यहां तक कि मेरे माता-पिता ने भी समस्या को हल करने की कोशिश की, लेकिन किसी ने भी नहीं सोचा था कि वह ऐसा क्रूर कदम उठाएगा। सिविल लाइंस पुलिस स्टेशन के एसएचओ  सुधाकर पांडे ने कहा, “हमने आरोपी को हिरासत में ले लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है।

Continue Reading

Trending