Connect with us

नेशनल

लोकसभा चुनाव 2019: मुस्लिम प्रत्याशी ने किया एलान, चुनाव जीतने पर बांटेंगे 10 लीटर शराब

Published

on

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के पहले फेज का मतदान होने में अब बहुत कम समय बचा है, ऐसे में तमाम नेता वोटरों को लुभाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं।

ऐसा ही एक ताजा मामला सामने आया है जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे। दरअसल, जहां एक ओर तमिलनाडु की बड़ी पार्टियां बड़ी घोषणाएं करने से कतरा रही हैं वहीं एक निर्दलीय प्रत्याशी ने चुनाव जीतने के बाद मुफ्त शराब देने का वादा किया है।

पेशे से टेलर 55 वर्षीय शेख दाऊद ने ऐलान किया है कि अगर वे चुनाव जीतते हैं तो अपने लोकसभा चुनाव में हर घर में 10 लीटर शराब मुफ्त देंगे।

शेख दाऊद ने तीरूपुर लोकसभा सीट से पर्चा दाखिल किया। शेख ने अपने चुनावी घोषणापत्र में 15 घोषणाएं की हैं। इस घोषणा पत्र में महिलाओं के लिए बेहद खास जगह बनाई गई है। शेख ने वादा किया है कि महिलाओं को 25,000 रुपए प्रतिमाह दिए जाएंगे।

शेख दाऊद अपने चुनावी घोषणापत्र में कहते हैं, ‘मेरे चुनावी घोषणापत्र के 15 हाइलाइट्स हैं, जिससे जनता को सीधे तौर पर लाभ पहुंचेगा. घर की महिला मुखिया के लिए मैं सरकार की ओर से 25,000 रुपए प्रतिमाह की व्यवस्था करूंगा।

मैं ऐसा इसलिए नहीं कह रहा हूं कि लोग गलतियां करें। लेकिन मैं पुड्डुचेरी से शुद्ध ब्रांडी हर परिवार के लिए उपलब्ध कराऊंगा जिनका इस्तेमाल दवा की तरह हो सके. यह हर महीने दिया जाएगा.’

शेख के घोषणापत्र के मुताबिक चुनाव जीतने के बाद हर परिवार के एक व्यक्ति को रोजगार दिया जाएगा साथ ही हर लड़की की शादी के वक्त 10 सोने के सिक्के और 10 लाख कैश दिया जाएगा।

घोषणापत्र में किसानों के लिए भी खुलकर घोषणाएं की गई हैं। शेख दाऊद ने वादा किया है कि जिले में में पानी की व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए नहर की खुदाई कराई जाएगी, जिसे मेत्तूर डैम के जरिए तीरूपुर और सलेम जिला को कनेक्ट किया जाएगा।

शेख दाऊद ने यह भी कहा कि जिस तरह से दिवंगत पी कक्कन ने अपने लोकसभा क्षेत्र का विकास किया था उसी तरह वे भी अपने क्षेत्र के लिए काम करेंगे।

 

नेशनल

पार्टी छोड़ते ही प्रियंका चतुर्वेदी ने कांग्रेस पर किया बड़ा हमला, कह दी ये बड़ी बात

Published

on

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा देने के बाद प्रियंका चतुर्वेदी आखिरकार शिवसेना में शामिल हो गईं। शनिवार को प्रियंका ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की उपस्थिति में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

शिवसेना में शामिल होते ही प्रियंका कांग्रेस पर हमलावर हो गईं। उन्होंने कहा कि उनके आत्मसम्मान को ठेस पहुंचाई गई जिसके बाद उन्होंने पार्टी छोड़ने का फैसला कर लिया।

उन्होंने कहा कि मैं मुंबई के लिए काम करना चाहती हूं यही कारण है कि इस दल में शामिल हुई हूं। प्रियंका बोलीं कि कांग्रेस में जब कुछ लोगों ने उनके साथ बदसलूकी की, लेकिन वापस उन्हें पार्टी में जगह दी जाती है इससे उनके आत्मसम्मान को ठोस पहुंचीं। प्रियंका ने कहा कि मुझे पता है अब मेरे ऊपर सवाल उठाए जाएंगे, पिछले ट्वीट्स को उछाला जाएगा।

लेकिन मैंने सोच समझकर ये फैसला लिया है। मुझे उम्मीद थी कि उन्हें लोकसभा का टिकट जरूर मिलेगा, लेकिन मैं उससे निराश नहीं थी।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending