Connect with us

प्रादेशिक

टिकट नहीं मिला तो विधायक ने काट ली हाथ की नस

Published

on

नई दिल्ली। आंध्र प्रदेश के पुथलपट्टू विधानसभा क्षेत्र से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे। यहां एक विधायक ने कथित तौर पर पार्टी का टिकट न मिलने से दुखी होकर अपनी कलाई काट ली।

विधायक का यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। दलित विधायक एम. सुनील कुमार पेशे से डॉक्टर हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक विधायक ने कलाई को ब्लेड से काटते हुए एक वीडियो बनाया और अपनी पार्टी के नेता वाईएसआर कांग्रेस प्रमुख जगनमोहन रेड्डी को भेज दिया।

5 मिनट के इस वीडियो क्लिप में 50 वर्षीय सुनील की आंखों में आंसू है और वह कह रहे हैं, ‘जगन सर मैं आपसे बहुत प्यार करता हूं, लेकिन मेरा टिकट कटने के कारण मैंने अपना जीवन समाप्त करने का फैसला किया। मैं अपनी मृत्यु से पहले आपको यह वीडियो भेज रहा हूं।’

आत्महत्या की कोशिश करने के बाद कुमार को मदनपल्ली स्थित एक अस्पताल ले जाया गया जहां उनका इलाज चल रहा है। डॉक्टर ने बताया कि अब वह खतरे से बाहर हैं।

उनकी पत्नी ने बाद में पुलिस को बताया कि उनके राजनीतिक भविष्य से संबंधित पार्टी के भीतर होने वाले कुछ प्रतिकूल घटनाक्रमों के कारण विधायक ने अपना मानसिक संतुलन खो दिया।

विधायक ने जगनमोहन रेड्डी से उनके लोटस पॉन्ड स्थित निवास पर मिलने की कोशिश की, लेकिन वह उनसे भेंट कर पाने में सफल नहीं रहे। नाम न छापने की शर्त पर पार्टी के एक कार्यकर्ता ने कहा कि कुमार को वाईएसआरसी में दरकिनार कर दिया गया था।

प्रादेशिक

एनडी तिवारी के बेटे रोहित की हुई थी हत्या, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ खुलासा

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की मौत के मामले में नया मोड़ आ गया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि शेखर तिवारी की मौत प्राकृतिक नहीं थी।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद दिल्ली क्राइम ब्रांच ने अज्ञात के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज किया है।

रिपोर्ट सामने आने के बाद शुक्रवार को क्राइम ब्रांच की टीम और वरिष्ठ अधिकारी डिफेंस कॉलोनी स्थित रोहित के घर पर पहुंचे थे। टीम रोहित के घर की जांच से मौत की वजह पता लगाने की कोशिश कर रही है।

दिल्ली पुलिस ने बताया कि स्व. एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में ‘अप्राकृतिक मौत’ की बात सामने आई है। अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 (हत्या का मामला) के तहत मामला दर्ज किया गया।

आपको बता दें कि मंगलवार को रोहित शेखर तिवारी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। तबीयत खराब होने पर शाम करीब 4 बजकर 41 मिनट पर साकेत स्थित मैक्स अस्पताल ले जाया गया था।

जांच के बाद डॉक्टरों ने रोहित को मृत घोषित कर दिया। डॉक्टरों का कहना है कि 40 वर्षीय रोहित की मौत अस्पताल में लाने से पहले ही हो गई थी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending