Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

अन्तर्राष्ट्रीय

मसूद अजहर ने चला बेहद खतरनाक दांव, कहा- “जबतक मेरा संदेश आप तक पहुंचेगा मैं जिंदा नहीं बचूंगा”

Published

on

पुलवामा हमले का मास्टरमाइंड और आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मौलाना मसूद अजहर की कुछ दिनों से मौत की खबर हर न्यूज़ चैनल में दिखाई जा रही जिसकी वजह से मसूद बेहद खौफ में आ गया है। आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मौलाना मसूद अजहर से जुड़ा एक नया ऑडियो जारी किया गया है। इस ऑडियो में आतंकी मसूद अजहर की लिखी हुई स्‍टेटमेंट को उसके प्रवक्‍ता सैफुल्‍लाह ने पढ़ा है। इस ऑडियो में आतंकी मसूद अजहर की ओर से स्‍टेटमेंट जारी किया गया है कि मैं अभी जिंदा हूं। पूरी दुनिया में मेरे मरने की खबर चल रही है। मालूम नहीं जब ये ऑडियो आप तक पहुंचेगा पता नहीं मैं उस वक्‍त तक जिंदा रहूंगा या नहीं।

काफी समय से जैश-ए-मोहम्‍मद हर बुधवार को एक ऑडियो जारी करता रहा है। इस बार भी आतंकी संगठन की ओर एक ऑडियो जारी हुआ है जिसे जैश के प्रवक्‍ता सैफुल्‍लाह ने जारी किया है। इस ऑडियो में मसूद अजहर ने पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को भी चेताया।

हुक्मरानों को चाहिए कि वो जिस तरह से लिबरल्स को झेल रहे हैं वैसे ही अल्लाह ताला के वफादारों को भी बर्दाश्त करें। जो आलमी मुल्क दबाव डाल रहे हैं उन्हे बताएं कि हमारा मुल्क हॉलीवुड या बॉलीवुड का स्टूडियो नहीं है कि तुम्हे यहां सिर्फ लिबरल्स नजर आएं। यहां हर तरह के लोग नजर आएंगे।

अन्तर्राष्ट्रीय

आ गई कोरोना की एक और वैक्सीन, अमेरिका में मिला इमरजेंसी अप्रूवल

Published

on

नई दिल्ली। अमेरिका ने कोरोना के खिलाफ जंग तेज कर दी है। इसी कड़ी में शनिवार को जॉनसन एंड जॉनसन की कोरोना वैक्सीन ‘जैनसेन’ को इमरजेंसी अप्रूवल दे दिया गया।

मंजूरी मिलने के बाद अमेरिका में यह तीसरी वैक्सीन है जिसे कोविड-19 के खिलाफ इस्तेमाल किया जाएगा। इससे पहले मॉडर्ना और फाइजर को भी इमरजेंसी अप्रूवल मिल चुका है।

CNN के मुताबिक, यह अमेरिका की पहली सिंगल डोज वैक्सीन है। व्हाइट हाउस के सीनियर ऑफिसर एंडी स्लाविट ने सोशल मीडिया पर कहा कि तीसरी सेफ और इफेक्टिव वैक्सीन का आना बहुत अच्छी खबर है।

बता दें कि इस वैक्सीन का ट्रायल अमेरिका, दक्षिण अफ्रीका और लैटिन अमेरिका के 44 हजार से ज्यादा लोगों पर किया गया था। FDA के मुताबिक, यह वैक्सीन कोरोना के मॉडरेट और क्रिटिकल मरीजों को दी गई। इस दौरान यह 66.1% इफेक्टिव रही।

 

Continue Reading

Trending