Connect with us

प्रादेशिक

पुलिस से बचने के लिए दुष्कर्म का आरोपी बना भिखारी, स्टेशन पर मांगता था भीख

Published

on

नई दिल्ली। इलाज के लिए पेरोल लेकर फरार एक बदमाश को दक्षिण-पूर्व जिला पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस से बचने के लिए वह पुरानी दिल्ली स्टेशन पर भिखारी भेष में रह रहा था।

गिरफ्तार किए गए शख्स का नाम कन्हैया है। वो संजय कॉलोनी, ओखला फेज-2 का रहने वाला है। दक्षिण-पूर्व जिला डीसीपी चिन्मय बिश्वाल के अनुसार, ओखला थानाध्यक्ष संदीप घई की देखरेख में ओखला चौकी प्रभारी दीपक पंवार ने कन्हैया (36) को गिरफ्तार किया है।

उसके खिलाफ डकैती, दुष्कर्म, आर्म्स एक्ट आदि के 21 मुकदमे हैं। वर्ष 2014 में दुष्कर्म के आरोप में कोर्ट ने उसे 7 वर्ष की सजा सुनाई थी। वह मंडोली जेल में था।

कोर्ट ने किडनी के ऑपरेशन के लिए उसे 6 सप्ताह की पेरोल दी थी। वह इसी साल 26 मार्च को जेल से बाहर आया। उसे 6 मई तक वापस जेल जाना था। कन्हैया पेरोल जंप कर गया। कोर्ट ने उसके गैरजमानती वारंट जारी कर दिए।

मंडोली जेल ने उस पर पांच हजार रुपये का इनाम रख दिया। वह पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर भिखारी बनकर रह रहा था। वह संजय कॉलोनी में स्थित अपना मकान बेचकर दिल्ली से भागने की फिराक में था।

प्रादेशिक

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पर्वातरोहण अभियान दल को दिखाई हरी झंडी

Published

on

देहरादून। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास में उत्तराखण्ड पर्यटन विकास परिषद, निम (नेहरू इन्स्टीटयूट ऑफ माउन्टनियरिंग) और एसडीआरएफ द्वारा सयुंक्त रूप से आयोजित पर्वतारोहण अभियान दल को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

गौरतलब है कि इस संयुक्त अभियान के तहत उत्तराखण्ड पर्यटन विकास परिषद, एसडीआरएफ व निम की सयुंक्त टीमों द्वारा हर्षिल वैली में स्थित हॉर्न ऑफ हर्षिल चोटी को लगभग 5, 6 दिन के भीतर फतह किया जाएगा।

उक्त अनाम चोटियों को अभी तक पर्वतारोहियों द्वारा फतह नही किया गया है। पर्वतारोही टीम को बधाई व शुभकामनाएं देते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि पर्वतारोही दलों द्वारा पर्वतारोहण अभियानों के माध्यम से पर्यावरण संरक्षण का संदेश देते हुए वृक्षारोपण, पॉलीथीन के प्रयोग न करने व पर्यावरण संरक्षण का संदेश भी दिया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड को एडवेंचर टूरिज्म और अच्छे पर्यावरण के लिए जाना जाए, हमें इसके लिए लगातार अपने प्रयास जारी रखने होंगे। इस मौके पर जिलाधिकारी उत्तरकाशी डॉ. आशीष चौहान और प्रधानाचार्य निम कर्नल अमित बिष्ट भी मौजूद थे।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending