Connect with us

मनोरंजन

महिला दिवस: बेहद बोल्ड हैं महिलाओं पर बनी ये 5 फिल्में, हॉट सीन की वजह से लग चुका है बैन!

Published

on

मुंबई। 8 मार्च यानि आज पूरी दुनिया इंटरनेशनल वीमेंस डे मना रही है। भारत में भी महिलाओं का यह खास दिन बड़े ही धूमधाम से मनाया जा रहा है।

महिला दिवस के मौके पर आज हम आपको उन पांच फिल्मों के बारे में बताएंगे जिनके बोल्ड कंटेंट की वजह से पूरे भारत में खलबली मच गई थी। बोल्ड कंटेंट के कारण कई फिल्मों को बैन तक कर दिया गया। आईए जानते हैं कौन सी हैं वो फिल्में…

शेखर कपूर की फिल्म बैंडिट क्वीन इस लिस्ट में सबसे ऊपर है। यह भारत की सबसे हार्ड हिटिंग और विवादित फिल्मों में से एक है। फिल्म की कहानी दलित लड़की फूलन देवी पर आधारित है जो उच्च वर्ग के लोगों द्वारा गैंगरेप होने के बाद बैंडिट क्वीन बन जाती है। अपने बोल्ड कंटेंट होने की वजह से फिल्म को काफी समय तक बैन रहना पड़ा था।

अनफ्रीडम मॉर्डन डे थ्रिलर है जो लेस्बियन रिश्तों पर आधारित है। इस फिल्म में इस्लामिक आतंकवाद का भी बैकड्रॉप है। विवादित सब्जेक्ट के चलते यह फिल्म आज तक रिलीज नहीं हो पाई है। फिल्म में लीड कास्ट के बीच लवमेकिंग सीन्स को दिखाया गया है।

विवादित फिल्मों की कड़ी में वॉटर का नाम भी शुमार किया जाता है। इस फिल्म को डायरेक्टर अनुराग कश्यप ने लिखा था और इस फिल्म में समाज से निष्कासित की गई महिलाओं और नारी द्वेष जैसे कई महत्वपूर्ण मुद्दों के बारे में बात की गई है।

फिल्म कामासूत्र को भी सेंसर बोर्ड ने बैन कर दिया था। फिल्म पर अश्लीलता परोसे जाने के आरोपों के बाद भारत में इस पर पाबंदी लगा दी गई थी। 16वीं शताब्दी में चार प्रेमियों की दास्तां कहती इस फिल्म को क्रिटिक्स ने काफी सराहा लेकिन सेंसर बोर्ड ने उस दौर में भारतीय समाज को देखते हुए इस पर प्रतिबंध लगाना बेहतर समझा था।

दीपा मेहता को भारत की सबसे प्रतिष्ठित निर्देशकों के तौर पर शुमार किया जाता है। उन्होंने फायर से क्रिटिक्स का समर्थन हासिल किया था लेकिन ये फिल्म सेंसर बोर्ड के गले नहीं उतर पाई और समलैंगिक रिश्तों पर आधारित इस फिल्म को सेंसर बोर्ड ने बैन कर दिया था।

 

मनोरंजन

अमिताभ बच्चन मुंबई के नानावटी अस्पताल में भर्ती

Published

on

मुंबई। सदी के महानायक अमिताभ बच्चन मुंबई के नानावती अस्पताल में भर्ती हैं। अमिताभ पिछले 3 दिनों से अस्पताल में एडमिट हैं।

जानकारी के अनुसार उन्हें रुटीन चेकअप के लिए मंगलवार (15 अक्टूबर) सुबह 3 बजे अस्पताल में भर्ती कराया गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अमिताभ को अस्पताल में अभी 1-2 दिन और गुजारने पड़ सकते हैं। माना जा रहा है कि उन्हें रविवार को डिस्चार्ज किया जा सकता है।

अमिताभ को नानावती अस्पताल में भर्ती होने की बात का काफी सीक्रट रखा गया है। इस बात का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि अमिताभ की अस्पताल में भर्ती होने की बात सेलेब्रिटीज तक कोई नहीं पता है।

किसी को भी वहां जाने नहीं दिया जा रहा है। इसे रुटीन चेकअप बताया जा रहा है। लेकिन सवाल ये है कि अगर रुटीन चेकअप है तो क्यों उन्हें सुबह 3 बजे अस्पताल ले जाया गया। फिलहाल नानावती अस्पताल ने किसी तरह का ऑफिशियल हेल्थ बुलेटिन शेयर नहीं किया है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending