Connect with us

आध्यात्म

Ganesh Chaturthi 2018 : विघ्नहर्ता दूर करेंगे हर कष्‍ट, राशि के अनुसार ऐसे करें पूजन!

Published

on

गणेश चतुर्थी के दिन सभी देवी-देवताओं में सबसे पहले पूजे जाने वाले भगवान गणेश का जन्म हुआ था। इस बार गणेश चतुर्थी 13 सितंबर को है। भाद्रपद मास के शुक्लपक्ष की चतुर्थी को गणेश चतुर्थी के रूप में मनाया जाता है। इस दिन बड़ी धूम-धाम से भगवान गणेश की पूजा और प्रतिमा की स्थापना की जाती है।

गणेश जी को मोदक बहुत प्र‍िय हैं और उनको इसका भोग जरूर लगाया जाता है। श्री गणेश जी भक्तों की हर मनोकामना पूर्ण करते हैं। किसी भी पूजा को प्रारम्भ करने के पूर्व श्री गणेश उपासना की जाती है। राशि अनुसार उपासना और आराधना करें तो और बेहतर परिणाम आता है।

मेष – वक्रतुंड रूप में भगवान गणेश की आराधना करें। गुड़ का भोग लगाएं। ताम्र पात्र का दान करें।

वृष – शक्ति विनायक रूप में श्री गणेश पूजा करें। मिश्री का भोग लगाएं। श्वेत वस्त्र का दान करें।

मिथुन – लक्ष्मी उपासना भी गणेश जी के साथ करें। श्री सूक्त का पाठ करें। मूंग का लड्डू चढ़ाएं। मोदक का भोग लगाएं। वस्त्र का दान करें।

कर्क  – वक्रतुंड रूप में श्री गणेश उपासना करें। मिस्री और घी को मिलाकर भोग लगाएं। चावल का दान करें।

सिंह –  गणेश जी के साथ लक्ष्मी पूजन भी करें। गायत्री पूजा भी करें। श्री गणेश जी की बेसन के लड्डू का भोग लगाएं। गेहूं और गुड़ का दान करें।

कन्या – लक्ष्मी गणेश रूप का पूजन करें। दूध और फल की बनी खीर का भोग लगाएं। मूंग की दाल और वस्त्र का दान करें।

तुला – वक्रतुंड रूप में श्री गणेश उपासना करें। नारियल के लड्डू का भोग श्री गणेश जी को लगाएं। चावल का दान करें।

वृश्चिक – श्वेतार्क गणेश की उपासना करें। मोती चूर के लड्डू का भोग लगाएं। मसूर की दाल का दान करें।

 धनु – लक्ष्मी गणेश रूप की पूजा करें। श्री गणेश जी को बेसन के लड्डू का भोग लगाएं। धार्मिक पुस्तक का दान करें।

मकर – शक्ति विनायक रूप में हृदय में धारण कर गणेश पूजन करें। मोदक और इलाइची का भोग लगाएं। तिल का दान करें।

कुंभ –  शक्ति विनायक गणेश जी का पूजन करें। बेसन के लड्डू का भोग लगाएं। गरीबों में काला वस्त्र बांटें।

 मीन – हरिद्रा गणेश पूजन करें। लड्डू और शहद का भोग लगाएं। धार्मिक पुस्तक का दान करें।

आध्यात्म

करवा चौथः आपके शहर में कब दिखेगा चांद, देखें पूरी लिस्ट

Published

on

नई दिल्ली। आज यानी गुरूवार को पूरे देश में करवा चौथ का त्योहार आज मनाया जा रहा है। करवा चौथ पर पत्नी अपने पति की लंबी उम्र के लिए निर्जला व्रत रखती है।

वह रात को चांद का दीदार करने के बाद ही कुछ ग्रहण करती हैं। इस त्योहार में चांद का विशेष महत्व है। पूरे दिन भूखी-प्यासी रहने वाली महिलाओं को शाम को चांद निकलने का इंतजार रहता है। आज हम आपको बताएंगे कि आपके शहर में कब महिलाएं चांद का दीदार कर सकती हैं।

यूपी

– नोएडा- 8:16 PM
– लखनऊ- 8:04 PM
– वाराणसी – 7:58 PM
– कानपुर – 8:07 PM
– गोरखपुर-8:21 PM
– इलाहबाद – 8:03 PM

बरेली- 8:20 PM
– मेरठ- 8:13 PM
– आगरा- 8:16 PM
– बहराइच- 8:00 PM
– फैजाबाद- 7:59 PM
– झांसी- 8:16 PM

उत्तराखंड
–  देहरादून में कितने बजे निकलेगा चांद- 8:10 PM
-ऋशिकेष में कितने बजे निकलेगा चांद- 8:09

बिहार और झारखंड
– पटना- 7:49 PM
– मधुबनी- 7: 44 PM
–  मुजफ्फरपुर- 7: 47 PM
– रांची- 7:52 PM
– कटिहार- 7:39 PM

दिल्‍ली
कितने- 8.16 PM (दिल्ली से सटे इलाकों में भी लगभग इस समय चांद निकलेगा)

मध्‍य प्रदेश और छत्तीसगढ़
– भोपाल- 8:25 PM
– इंदौर- 8:32 PM
– रायपुर-8:11 PM
– मुरैना-8:17 PM
– जबलपुर-8:14 PM

राजस्‍थान-
– जयपुर – 8:29 PM
– जोधपुर – 8:38 PM
– अजमेर – 8:31 PM
– अलवर – 8:20 PM
– बीकानेर – 8:33 PM

पंजाब-हरियाणा-चंडीगढ़-
– चंडीगढ़- 8:14 PM
– अमृतसर- 8:20 PM
– गुरुग्राम में- 8:17 PM
– सोनीपत- 8:16 PM
– झज्जर- 8:18 PM
– जिला फाजिल्का- 8:26 PM

महाराष्‍ट्र-
– नवी मुंबई- 8:50 PM
– पुणे – 8:47 PM

गुजरात-
– अहमदाबाद- 8:45 PM
– गांधीनगर – 8:44 PM
– जूनागढ़ – 8:56 PM

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending