Connect with us

नेशनल

लोकसभा का चुनाव लड़ने की तैयारी में मालेगांव ब्लास्ट का आरोपी, इस सीट से दाखिल करेगा पर्चा

Published

on

मालेगांव ब्लास्ट

नई दिल्ली। लोकसभा 2019 को लेकर एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है। साल 2008 में मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी सेवानिवृत मेजर रमेश उपाध्याय अब चुनाव लड़ने की तैयारी में है। रमेश पश्चिम बंगाल के जादवपुर निर्वाचन क्षेत्र से हिंदू महासभा के टिकट से चुनाव लड़ेंगे। 29 सितंबर को हुए इस बम ब्लास्ट में 6 लोगों की मौत हो गई थी जबकि 101 लोग घायल हो गए थे।

धमाके के बाद मेजर रमेश को गिरफ्तार कर लिया गया था जिसके बाद उन्होंने 9 साल जेल में गुजारे। बाद में उन्हें जमानत मिल गई। जेल से रिहा होने के बाद एक चैनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने चौंकाने वाली बातें बताई थीं। उन्होंने कहा था कि उन्हें धमकी दी जाती थी कि उनके सामने उनकी बेटी से रेप किया जाएगा। उनकी पत्नी को लेकर भी उन्हें धमकी दी जाती थी। उन्होंने कहा कि ऐसा बड़े अधिकारी करते थे। उन्होंने कहा कि वह अधिकारी जो इस वक्त बड़े पदों पर हैं उनके साथ जेल में बुरा बर्ताव करते थे।

उन्होंने जेल से बाहर आकर किए बड़े खुलासे में यह भी कहा था कि मामले की दूसरी आरोपी साध्वी प्रज्ञा के साथ भी जेल में बुरा बर्ताव होता था। मामले में साजिश का सूत्रधार कर्नल पुरोहित, साधवी प्रज्ञा, राकेश थावड़े और मेजर रमेश उपाध्याय को बताया गया। उन्होंने कहा कि उन्हें हिंदू आतंकवादी तक कहा गया। उनके मकान मालिक को भी कहा गया कि उनके घर में आतंकवादी रह रहे हैं और वह उनसे घर खाली करवा दें।

आपको बता दें कि उपाध्याय सेना में रहते हुए आतंकियों के खिलाफ कई जंग लड़ चुके हैं। जम्मू कश्मीर और पंजाब में आतंक के खिलाफ लंबी लड़ाई लड़ी है। साथ ही श्रीलंका भेजी गई इंडियन पीस कीपिंग फोर्स का हिस्सा रह चुके हैं। उन्हे कई अवॉर्ड से सम्मानित भी किया जा चुका है। उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें इस केस में इसलिए धकेला गया क्योंकि वह अभिनव भारत संगठन के सदस्य थे।

नेशनल

55 राज्यसभा सीटों पर 26 मार्च को होगा चुनाव, अधिसूचना हुई जारी

Published

on

नई दिल्ली। अप्रैल और मई महीने में खाली हो रहीं राज्यसभा की 55 सीटों के लिए आज अधिसूचना जारी कर दी गई। 26 मार्च को चुनाव होंगे। निर्वाचन आयोग द्वारा घोषित चुनाव कार्यक्रम के अनुसार राज्यसभा की 17 राज्यों में 55 सीटे खाली हो रहीं हैं। इन सीटों पर 26 मार्च को मतदान होगा और उसी दिन मतगणना भी होगी।

गौरतलब है कि 17 राज्यों से 48 राज्यसभा सदस्यों का कार्यकाल आगामी दो अप्रैल को, दो राज्यों से पांच राज्यसभा सदस्यों का कार्यकाल तीन अप्रैल और झारखंड से दो सदस्यों का कार्यकाल तीन मई को समाप्त हो रहा है। जिन सीटों पर मतदान कराए जाएंगे उनमे महाराष्ट्र से सात सीट, बिहार से पांच, उड़ीसा में चार, तमिलनाडु में छह, पश्चिम बंगाल में पांच, आंध्र प्रदेश में चार, तेलंगाना में दो, असम में तीन, छतीसगढ़ में दो, गुजरात मे चार, हिमाचल प्रदेश में एक, झारखण्ड में दो, मध्यप्रदेश में तीन, मणिपुर में एक, राजस्थान में तीन और मेधली में एक सीट पर मतदान कराए जाएंगे।

चुनाव कार्यक्रम के मुताबिक, नामांकन की अंतिम तिथि 13 मार्च तय की गई है। वहीं, नामांकन पत्रों की जांच 16 मार्च को होगी और नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि 15 मार्च है। मतदान 26 मार्च को सुबह नौ बजे से शाम चार बजे तक होगा और शाम पांच बजे मतगणना होगी।

जिन लोगों की राज्यसभा की सीटें खाली हुई हैं, उनमें गृह मंत्री अमित शाह और दिवंगत भाजपा नेता अरुण जेटली की सीट है। गौरतलब है कि लोकसभा सदस्य चुने जाने के बाद अमित शाह ने राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। इसके अलावा जिन राज्यसभा सांसदों का कार्यकाल खत्म हो रहा है, उनमें भाजपा नेता आर. के. सिन्हा, राज्यसभा के सभापति हिरवंश, जेडीयू नेता कहकशा परवीन , रामनाथ ठाकुर, भाजपा सांसद प्रभात झा जैसे नेता शामिल हैं।

इसके अलावा जिन प्रमुख नेताओं का कार्यकाल खत्म हो रहा है उनमें केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ,रामदास अठावले, दिल्ली भाजपा नेता विजय गोयल, कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह और एनसीपी प्रमुख शरद पवार शामिल हैं।

फिलहाल भाजपानीत राजग और अन्य मित्रदलों की सदस्य संख्या राज्यसभा में 106 और अकेली भाजपा की संख्या 82 है, जबकि 425 सदस्यीय राज्यसभा में बहुमत के लिए 123 सदस्यों की आवश्यकता होती है।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending