Connect with us

प्रादेशिक

लखनऊ की पहली बारिश ने लोगों का मन भी भिगोया और तन भी, यूपी के 20 जिलों में आंधी-बारिश की चेतावनी

Published

on

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में तेज—झमाझम बारिश होने से लोगों को गर्मी व उमस से राहत मिली है। सुबह से ही लखनऊ और आस—पास के इलाके में बारिश की तैयारी हो गई थी। आसमान पर घुमड़—घुमड़ कर बादल तैर रहे थे। तकरीबन सुबह 8.30 बजे धीरे—धीरे बारिश शुरू हुई, उसके 15 मिनट बाद आसमान में बिजली की गड़गड़ाहट के साथ पूरे तेज से हुई बारिश ने पूरे लखनऊ को भिगो दिया। बारिश से मौसम का तापमान घट कर 27 डिग्री हो गया है।

सड़कों पर पानी भर गया। जनता को सुबह आफिस जाने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ा। लखनऊ नगर निगम प्रशासन अपने राहत कार्यों में जुट गया। बाराबंकी में हल्की बूंदाबादी हो रही है। जबकि कई जिलों में काले बादल छाए हुए हैं।

लखनऊ सहित उत्तर प्रदेश के लगभग 20 जिलों में शुक्रवार को आंधी और बारिश की चेतावनी जारी की गई थी। उत्तर प्रदेश मौसम विभाग के निदेशक जे.पी गुप्ता के अनुसार, दिन में बारिश होने की उम्मीद है। पूरे सप्ताह तक आंशिक तौर पर बदली छाई रहेगी। राज्य के 20 जिलों में आंधी और बारिश की संभावना है।

उन्होंने बताया कि उप्र में उन्नाव, कन्नौज, फरु खाबाद, वाराणसी, गोरखपुर, बलिया, गाजीपुर, मऊ, देवरिया, महाराजगंज, बलरामपुर, श्रावस्ती, लखीमपुर खीरी, पीलीभीत, रामपुर, मुरादाबाद और बिजनौर सहित कई जिलों में आंधी आने की संभावना है। इससे लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है।

उन्होंने कहा कि पूरे सप्ताह तक हल्की बारिश और बादलों का असर बना रहेगा। 8 से 12 जून तक प्रदेशभर के सभी जिलों में बादल छाए रहेंगे। अधिकतर जिलों में बारिश होने की उम्मीद है।

मौसम विभाग के अनुसार, राजधानी लखनऊ का न्यूनतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है।

लखनऊ के अतिरिक्त शुक्रवार को बनारस का न्यूनतम तापमान 20 डिग्री, कानपुर का 23 डिग्री, इलाहाबाद का 25 डिग्री, गोरखपुर का 24 डिग्री और झांसी का 25 डिग्री सेल्सिसय दर्ज किया गया। (इनपुट आईएएनएस)

प्रादेशिक

रायबरेली के पूर्व विधायक अखिलेश सिंह का निधन, कैंसर से थे पीड़ित

Published

on

नई दिल्ली। रायबरेली के पूर्व विधायक अखिलेश सिंह का मंगलवार को लखनऊ में निधन हो गया। वो लंबे समय से कैंसर से पीड़ित थे। लखनऊ के संजय गांधी पोस्ट ग्रैजुएट इंस्टीट्यूट में (पीजीआई) में उन्होंने अंतिम सांस ली।

जानकारी के मुताबिक उनका पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव रायबरेली के लालूपुर लाया जाएगा, जहां उनका अंतिम संस्कार होगा। अखिलेश सिंह रायबरेली सीट से पांच बार विधायक चुने गए।

उन्होंने अपने सियासी सफर की शुरुआत कांग्रेस से की थी। हालांकि राकेश पांडेय हत्याकांड के बाद उन्हें कांग्रेस से बाहर निकाल दिया गया था। इसके बावजूद वह कई बार निर्दलीय विधायक चुने गए।

जानकारी के अनुसार वो नियमित जांच के लिए वह लखनऊ के पीजीआई आए थे जहां तबियत बिगने पर उन्हें एडमिट होना पड़ा।

आपको बता दें कि रायबरेली की मौजूदा विधायक अदिति सिंह अखिलेश सिंह के बेटी हैं। आदिति ने साल 2017 में मोदी लहर होने के बावजूद रिकॉर्ड मतों से चुनाव जीता था।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending