Connect with us

प्रादेशिक

लखनऊ की पहली बारिश ने लोगों का मन भी भिगोया और तन भी, यूपी के 20 जिलों में आंधी-बारिश की चेतावनी

Published

on

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में तेज—झमाझम बारिश होने से लोगों को गर्मी व उमस से राहत मिली है। सुबह से ही लखनऊ और आस—पास के इलाके में बारिश की तैयारी हो गई थी। आसमान पर घुमड़—घुमड़ कर बादल तैर रहे थे। तकरीबन सुबह 8.30 बजे धीरे—धीरे बारिश शुरू हुई, उसके 15 मिनट बाद आसमान में बिजली की गड़गड़ाहट के साथ पूरे तेज से हुई बारिश ने पूरे लखनऊ को भिगो दिया। बारिश से मौसम का तापमान घट कर 27 डिग्री हो गया है।

सड़कों पर पानी भर गया। जनता को सुबह आफिस जाने में काफी दिक्कत का सामना करना पड़ा। लखनऊ नगर निगम प्रशासन अपने राहत कार्यों में जुट गया। बाराबंकी में हल्की बूंदाबादी हो रही है। जबकि कई जिलों में काले बादल छाए हुए हैं।

लखनऊ सहित उत्तर प्रदेश के लगभग 20 जिलों में शुक्रवार को आंधी और बारिश की चेतावनी जारी की गई थी। उत्तर प्रदेश मौसम विभाग के निदेशक जे.पी गुप्ता के अनुसार, दिन में बारिश होने की उम्मीद है। पूरे सप्ताह तक आंशिक तौर पर बदली छाई रहेगी। राज्य के 20 जिलों में आंधी और बारिश की संभावना है।

उन्होंने बताया कि उप्र में उन्नाव, कन्नौज, फरु खाबाद, वाराणसी, गोरखपुर, बलिया, गाजीपुर, मऊ, देवरिया, महाराजगंज, बलरामपुर, श्रावस्ती, लखीमपुर खीरी, पीलीभीत, रामपुर, मुरादाबाद और बिजनौर सहित कई जिलों में आंधी आने की संभावना है। इससे लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है।

उन्होंने कहा कि पूरे सप्ताह तक हल्की बारिश और बादलों का असर बना रहेगा। 8 से 12 जून तक प्रदेशभर के सभी जिलों में बादल छाए रहेंगे। अधिकतर जिलों में बारिश होने की उम्मीद है।

मौसम विभाग के अनुसार, राजधानी लखनऊ का न्यूनतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है।

लखनऊ के अतिरिक्त शुक्रवार को बनारस का न्यूनतम तापमान 20 डिग्री, कानपुर का 23 डिग्री, इलाहाबाद का 25 डिग्री, गोरखपुर का 24 डिग्री और झांसी का 25 डिग्री सेल्सिसय दर्ज किया गया। (इनपुट आईएएनएस)

प्रादेशिक

एनकाउंटर के डर उज्जैन पुलिस के सामने गिड़गिड़ाता रहा विकास दुबे, बोला-मुझे यहीं जेल में डाल दो

Published

on

लखनऊ। यूपी के कानपुर के आठ पुलिस वालों के हत्यारे विकास दुबे को यूपी एसटीएफ ने उसके अंजाम तक पहुंचा दिया है। अब विकास दुबे के मारे जाने के बाद इस केस को लेकर रोज़ नए खुलासे हो रहे हैं। बता दें कि उज्जैन में महाकाल के दर्शन करते समय पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था, इसके बाद जब उज्जैन पुलिस उसे यूपी एसटीएफ के हवाले करने जा रही थी तो वह बार-बार उनके सामने गिड़गिड़ा रहा था। विकास कह रहा था कि वह उसे यूपी एसटीएफ के हवाले न करें। उसे यही जेल में डाल दिया जाए। विकास को डर था कि जिस तरह एक-एक कर उसके साथियों का एनकाउंटर हो रहा है कहीं यूपी पुलिस उसका भी एनकाउंटर न कर दे।

विकास को छोड़ने जा रही टीम में शामिल एक जवान ने स्थानीय अखबार से बात करते हुए कहा है कि विकास लगातार डरा हुआ था। उसे पता था कि यूपी पुलिस के हाथ लगा तो उसके साथ कुछ गलत हो सकता है। विकास को यूपी पुलिस के हवाले करने 16 जवानों की टीम गई थी। वह लगातार पुलिस की टीम से कहा रहा था कि मुझे उज्जैन जेल में ही डाल दो। एक जवान ने बताया कि वह उज्जैन में ही रखे जाने को लेकर रास्ते भर गिड़गिड़ा रहा था।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पूछताछ के दौरान विकास दुबे पुलिस के सामने कई बार रोया था। उसने उज्जैन में अधिकारियों से भी गुहार लगाई थी कि मुझे कोर्ट में पेशी को बाद उज्जैन जेल में ही भिजवा दो, लेकिन ऐसा हुआ नहीं और वो अपने अंजाम तक पहुंच गया।

#VIKASDUBEY #UJJAINPOLICE #UPSTF

Continue Reading

Trending