Connect with us

प्रादेशिक

रिश्ते में पड़ी दरार, ‘बबुआ’ का हाथ झटक आगे बढ़ गईं ‘बुआ’

Published

on

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती ने सपा को तगड़ा झटका देते हुए यूपी में आगे आने वाले उपचुनावों में उसके साथ किसी भी तरह के तालमेल से इनकार कर दिया है। मायावती ने सोमवार को घोषणा करते हुए कहा कि आने वाले उपचुनावों के लिहाज से वह अपने पार्टी कैडर को सक्रिय नहीं करेंगी।

मायावती के इस बयान के बाद ऐसे कयास हैं कि अब बसपा कैराना लोकसभा के साथ बिजनौर के नूरपुर विधानसभा उप चुनाव में किसी भी दल का समर्थन नहीं करेगी। यह भी हो सकता है कि बसपा का कैडर उस हिसाब से चुनाव में प्रचार न करे, जैसा कि समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों के लिए गोरखपुर और फूलपुर की सीट पर किया था।

मायावती की सोमवार को बसपा जोनल कोआर्डिनेटरों की बैठक के बाद जारी बयान में कहा गया, ‘भविष्य में होने वाले किसी भी उपचुनाव के लिए बसपा अपने कैडर को सक्रिय नहीं करेगी।’ इस बैठक में 2019 लोकसभा चुनाव की रणनीति पर भी चर्चा हुई।

सूत्रों की माने तो बसपा आम चुनाव से पहले अब कोई परीक्षा देने के मूड में नहीं है। कैराना में लोकसभा और नूरपुर में विधानसभा के उपचुनाव हो सकते हैं। अगर बीएसपी के समर्थन के बाद भी समाजवादी पार्टी उपचुनाव हार जाती है तो फिर मायावती की किरकिरी होगी। फिर बीजेपी निशाना साधेगी और कहेगी कि दोनों मिल कर भी कुछ नहीं कर पाए। ऐसे में अगले चुनाव से पहले बीएसपी के लिए माहौल खराब हो जाता।

मायावती के इस बयान पर समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता सुनील साजन ने कहा है कि इसमें गठबंधन में दरार जैसी कोई बात नहीं है क्योंकि हमारा गठबंधन बड़े लक्ष्य के लिए और बड़े चुनाव के लिए है और सब का फोकस 2019 पर है इसलिए उपचुनाव को लेकर बीजेपी को किसी गलतफहमी में नहीं रहना चाहिए।

प्रादेशिक

कमलेश तिवारी हत्याकांडः नागपुर से एक और आरोपी गिरफ्तार

Published

on

लखनऊ। कमलेश तिवारी हत्याकांड की जांच में जुटी टीम को बड़ी कामयाबी मिली है। नागपुर एटीएस ने सैयद असीम अली नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया है। आपको बता दें कि इस हत्याकांड में अब तक कुल 4 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सैयद लगातार कमलेश तिवारी हत्याकांड के मास्टरमाइंड राशीद से संपर्क में था। हत्या के बाद भी हत्यारों ने सैयद को फोन किया था। यूपी पुलिस अब सैयद और सूरत से गिरफ्तार 3 आरोपियों के आमने सामने बैठा कर पूछताछ करेगी।

इसके पहले मामले में तीन आरोपियों को यूपी एटीएस गुजरात से लेकर लखनऊ आई। जिनसे एटीएस मुख्यालय में पूछताछ की जा रही है।

वहीं, शनिवार शाम को पुलिस ने लखनऊ के कैसरबाग स्थित खालसा होटल के उस कमरे की तलाशी ली थी जिसमें कमलेश तिवारी के हत्यारे ठहरे हुए थे। शुक्रवार दोपहर वारदात के बाद दोनों वापस होटल पहुंचे और कपड़े बदलकर भाग गए।

पुलिस ने शनिवार देर रात होटल के कमरे से कमलेश की हत्या में इस्तेमाल चाकू और खून से सना भगवा रंग का कुर्ता बरामद कर लिया है। बरामद सामान को फोरेंसिक जांच के लिए भेजकर कमरा सील कर दिया गया।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending