Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

प्रादेशिक

शादी समारोहों के लिए नहीं लेनी होगी अनुमति, पुलिस ने दुर्व्यवहार किया तो होगी कार्रवाई: योगी आदित्यनाथ

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साफ़ किया है कि शादी समारोहों के लिए पुलिस या प्रशासनिक अनुमति की कोई आवश्यकता नहीं होगी। सिर्फ सूचना देकर कोविड प्रोटोकॉल के तहत शादी समारोह कराए जा सकेंगे। इस संबंध में कहीं से भी पुलिस दुर्व्यवहार की शिकायत आई तो सख्त कार्रवाई होगी। इसके अलावा बैंड बजाने, डीजे बजाने से रोकने वाले अधिकारियों व पुलिसकर्मियों पर भी कार्रवाई की जाएगी।

सीएम योगी की तरफ जारी निर्देश में कहा गया है कि केवल सूचना देकर कोविड प्रोटोकाल और गाइडलाइन के सभी निर्देशों का पालन करते हुए विवाह समारोह का आयोजन किया जा सकता है। विवाह के लिए जिन 100 लोगों की संख्या रखी गई है उसमें बैंड बाजा वाले लोग शामिल नहीं हैं।

सीएम योगी ने कहा कि गाइडलाइन के नाम पर उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं होगा। उन्होंने प्रशासन से कहा है कि वो लोगों को जागरूक करें और गाइडलाइन का पालन करने के लिए प्रोत्साहित करें। वहीं बैंड बजाने, डीजे बजाने से रोकने वाले अधिकारियों व पुलिसकर्मियों पर कठोर कार्रवाई होगी।

प्रादेशिक

कोरोना वैक्सीन पर उड़ रही अफवाहों पर एक्शन मोड में योगी सरकार, उठाएगी ये कदम

Published

on

लखनऊ। कोरोना वायरस को हराने के लिए दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन अभियान जारी है। सरकार की ओर से फिलहाल वैक्सीनेशन अभियान में स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वॉरियर्स को वैक्सीन की खुराक दी जा रही है। लेकिन वैक्सीन को लेकर कुछ अभी भी संकोच कर रहे हैं।

इस भ्रम और संकोच को लोगों के मन से दूर करने के लिए अब उत्तर प्रदेश की योगी सरकार जागरूकता अभियान चलाने की तैयारी में है। योगी सरकार अगले सप्ताह से सूबे में वैक्सीन के प्रति लोगों को जागरुक करने के लिए अभियान चलाएगी। सूबे में जगह-जगह पर पोस्ट और वॉल राइटिंग होगी।

साथ ही टीवी, रेडियो और न्यूजपेपर के जरिए भी लोगों को जागरुक किया जाएगा। इससे पहले उत्तर प्रदेश में वैक्सीनेशन के दूसरे चरण में शुक्रवार (22 जनवरी, 2021) को 1537 केन्द्रों व बूथों पर टीकाकरण का आयोजन किया गया।

लखनऊ में इतने स्वास्थयकर्मियों को लगा टीका

दूसरे चरण के बाद जारी रिपोर्ट के मुताबिक लखनऊ में 4833 स्वास्थ्यकर्मियों को अब तक टीका लग चुका है। यह आंकड़ा प्रदेश में सबसे ज्यादा है, लेकिन कुल लक्ष्य का यह महज 58% है। ऐसा तब है, जब खुद मुख्यमंत्री और चिकित्सा के दो कैबिनेट मंत्रियों ने यहां निरीक्षण किया था। सभी प्रमुख सचिव समेत स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण निदेशक भी यहीं तैनात हैं और खुद वैक्सिनेशन करवाने जा रहे हैं।

Continue Reading

Trending