Connect with us

नेशनल

रिहा होने के बाद महबूबा मुफ़्ती का बयान, कहा- मैं उस काले दिन के काले फैसले की बेइज्जती नहीं भूली हूं

Published

on

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर से 5 अगस्त 2019 को आर्टिकल 370 के प्रावधानों को हटाने के साथ ही महबूबा मुफ्ती को पीएसए के तहत हिरासत में ले लिया गया था। तबसे अब तक उनकी हिरासत की अवधि लगातार बढ़ाई जा रही थी। आखिरकार 14 महीने और आठ दिन बाद जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने उन्हें रिहा कर दिया है।

रिहाई के फौरन बाद ही फिर से संघर्ष का ऐलान किया है। उन्होंने ट्विटर अकाउंट पर ऑडियो संदेश जारी कर आर्टिकल 370 (Article 370) के प्रावधानों को हटाए जाने को काला फैसला करार दिया और कहा कि कश्मीर का संघर्ष जारी रहेगा।

महबूबा मुफ्ती ने ट्विटर पर शेयर किए गए ऑडियो संदेश में कहा, ‘मैं आज एक साल से भी ज्यादा समय के बाद रिहा हुई हूं। 5 अगस्त 2019 के उस काले दिन का काला फैसला मेरे दिल और रूह पर हर पल वार करता रहा। मुझे यकीन है कि ऐसी ही स्थिति जम्मू-कश्मीर के लोगों की रही होगी। कोई भी उस दिन की बेइज्जती को भूल नहीं सकता।’

 

नेशनल

शिवसेना में शामिल हुईं उर्मिला मातोंडकर, उद्धव ठाकरे भी रहे मौजूद

Published

on

मुंबई। एक्ट्रेस उर्मिला मातोंडकर मंगलवार को पार्टी अध्यक्ष और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की मौजूदगी में शिवसेना में शामिल हो गईं। विधान परिषद के लिए राज्यपाल की ओर से मनोनीत होने वाले 12 सदस्यों में पार्टी उर्मिला मातोंडकर के नाम का प्रस्ताव पहले ही कर चुकी है।

उद्धव ठाकरे की पत्नी रश्मि ठाकरे ने उन्हें ‘शिव बंधन’ बांधकर पार्टी की सदस्यता दिलाई। इस मौके पर उद्धव ठाकरे के अलावा सुभाषा देसाई, अनिल देसाई समेत पार्टी के कई बड़े नेता मौजूद थे।

उर्मिला 2019 में कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा का चुनाव लड़ा था। हालांकि यहां उन्हें भारतीय जनता पार्टी के गोपाल शेट्टी से हार मिली थी, जिसके बाद उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी थी।

 

 

Continue Reading

Trending