Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

अन्तर्राष्ट्रीय

धारा 370 हटने के बाद अमेरिका ने दिया बड़ा बयान, कही ये बात

Published

on

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने और इसे दो केंद्र शासित प्रदेश में विभाजित करने के बाद अमेरिका का बयान सामने आया है।

सोमवार को अमेरिका की तरफ से जारी बयान में कहा गया कि वो भारत सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद जम्मू कश्मीर में घटनाक्रम पर करीब से नजर रख रहा है। इसके साथ ही उसने सभी पक्षों से नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर शांति और स्थिरता बनाए रखने की अपील की।

अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोर्गन ओर्टागस ने इस मामले पर कहा कि हम नियंत्रण रेखा पर सभी पक्षों से शांति और स्थिरता बनाए रखने की अपील करते हैं।

जम्मू कश्मीर के विशेष राज्य के दर्जे को समाप्त किए जाने के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हम जम्मू कश्मीर की घटनाओं पर करीब से नजर रख रहे हैं।

हमने जम्मू कश्मीर के संवैधानिक दर्जे में तब्दीली की भारत की घोषणा और राज्य को दो केन्द्रशासित प्रदेशों में बांटने की योजना को संज्ञान में लिया है।

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटारेस के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने कहा कि यूएन के सैन्य पर्यवेक्षक समूह की रिपोर्ट में यह कहा गया है कि नियंत्रण रेखा पर दोनों देशों की सैन्य गतिविधि में वृद्धि हुई है।

इस रिपोर्ट के बाद संयुक्त राष्ट्र ने दोनों देशों से संयम बरतने की अपील की है, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सीमा पर स्थिति और न बिगड़े।

जम्मू-कश्मीर के विवादित क्षेत्र में भारत और पाकिस्तान के बीच संघर्ष विराम की निगरानी के लिए संयुक्त राष्ट्र पर्यवेक्षकों को जनवरी, 1949 में तैनात किया गया था। पाकिस्तान संयुक्त पर्यवेक्षकों को एलओसी की निगरानी करने की अनुमति देता है, जबकि भारत इसकी इजाजत नहीं देता है।

 

अन्तर्राष्ट्रीय

नेपाल- बाढ़ और तेज बारिश के चलते 18 लोगों की मौत, 21 लापता

Published

on

नई दिल्ली। नेपाल में जून के महीने में तेज बारिश और बाढ़ के चलते भूस्खलन जैसे हालत बन गये हैं। नेपाल की सभी छोटी बड़ी नदियां उफान पर हैं। इस दौरान कई लोगों की मौत हो गयी है। साथ ही बहुत से लोगो के लापता होने की ख़बरें भी आ रही है।

नेपाल में पिछले सप्ताह से हो रही तेज बारिश से आई बाढ़ और भूस्खलन के चलते 18 लोगों की जान चली गयी है और 21 लोग अभी भी लापता हैं। पुलिस ने रविवार को बताया कि पिछले सप्ताह तेज बारिश के चलते बाढ़ आयी एवं कई अहम बुनियादी ढ़ाचों को नुकसान पहुंचा है।

पुलिस के मुताबिक, सिंधुपालचौक के मेलामची क्षेत्र में 20 लोग और बाजूरा में एक व्यक्ति की मौत हो गयी है। अभी तक हमें संपत्तियों के नुकसान से संबंधित रिपोर्ट नही मिली है। सरकार राहत और बचाव कार्यो में लगी हुई है।

मंत्रालय के प्रवक्ता जनकराज दहल ने बताया कि सिंधुपालचौक व मनंग जिलो में जान-माल की हानि की रिपोर्ट मिली है। नेपाल मौसम विभाग के अनुसार, देश में 1 जून से मानसून आया है और ये करीब 3 माह तक रहेगा। तेज बारिश के चलते इंद्रवति नदी के बेसिन के कई इलाको में पानी भर गया है।

Continue Reading

Trending