Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

नेशनल

मोदी सरकार ने लोगों को दी बड़ी राहत, शर्तों के साथ खुल सकेंगी दुकानें

Published

on

नई दिल्ली। कोरोना वायरस भारत में तेजी से फैल रहा है। इस पर काबू पाने के लिए देश में इस समय लॉकडाउन चल रहा है। लॉकडाउन की वजह से लोगों को कई तरह की परेशानियां हो रही हैं।

इन दिक्कतों को देखते हुए मोदी सरकार ने लोगों को बड़ी राहत देने का फैसला किया है। गृह मंत्रालय ने देश में आज से शर्तों के साथ दुकानों को खोलने का आदेश दे दिया है।

हालांकि कंटेनमेंट जोन और हॉटस्पॉट इलाकों में यह आदेश लागू नहीं होगा। नगर निगम और नगर पालिका क्षेत्र में स्थित राज्य तथा केंद्र शासित प्रदेशों के स्थापना अधिनियम के तहत पंजीकृत, आवासीय कॉलोनियों के समीप या बाजार में स्थित दुकानें ही खुल सकेंगी।

मल्टी और सिंगल ब्रांड के शोरूम सहित शॉपिंग कॉम्प्लेक्स और मार्केट कॉम्प्लेक्स नहीं खुल सकेंगे। शुक्रवार देर रात गृहमंत्रालय की ओर से जारी आदेश के अनुसार, दुकानों पर केवल 50 फीसदी कर्मचारी ही काम कर सकेंगे। इन्हें सामाजिक दूरी का पालन करना होगा, हमेशा मास्क लगाना होगा और सैनिटाइजेशन के नियमों का सख्ती से पालन करना होगा।

बता दें कि लॉकडाउन की वजह से सभी तरह के प्रतिष्ठान बंद कर दिए गए थे और सिर्फ जरूरी सामान जैसे सब्जी, फल, दवाई और किराना की दुकानों को ही खोलने की इजाजत दी गई थी।

लेकिन अब केंद्र सरकार ने अपने फैसले में थोड़ा बदलाव कर लिया है। अब जरूरी चीजों के साथ ही गैर-जरूरी चीजों की दुकानें खोलने की भी इजाजत दे दी गई है।

कोरोना से बचाव के लिये जो एहतियात जरूरी हैं, उन्हें ही शर्तों के तौर पर लागू किया गया है। इसके अलावा एक बड़ी शर्त ये है कि दुकानें खोलने का ये नया आदेश उन इलाकों में लागू नहीं होगा जिन्हें कोरोना हॉटस्पॉट माना गया है या कंटेनमेंट घोषित किया गया है।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की वजह से मोदी सरकार ने पूरे देश में 21 दिनों का लॉकडाउन लगा दिया था। 21 दिन की अवधि पूरी होने के बाद कई राज्यों के मुख्यमंत्री के आग्रह पर पीएम मोदी ने 19 दिनों के लिए लॉकडाउन बढ़ा दिया। दूसरा लॉकडाउन 3 मई को खत्म होने वाला है। इसके बाद ही मोदी सरकार ताजा स्थिति के मुताबिक आगे की रणनीति पर विचार करेगी।

 

नेशनल

कोरोना की दवा 2DG हुई लॉन्च, स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कही ये बात

Published

on

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की दूसरी लहर से भारत के कई राज्य बहुत अधिक प्रभावित हुए हैं। इस खतरनाक वायरस ने अब तक लाखों लोगों की जान ले ली है। इसके अलावा भारत में फैले कोरोना का यह वैरिएंट लोगों को तेजी से अपना शिकार बना रहा है। संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए राज्य सरकारें वैक्सीनेशन और लॉकडाउन का सहारा ले रही हैं। इस बीच कोरोना से जंग में भारत को एक नया हथियार मिल गया है।

DRDO द्वारा डेवलेप की गई दवाई 2-DG अब अस्पतालों में उपलब्ध होगी, जो मरीजों को कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ने में मदद करेगी। सोमवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन की मौजूदगी में इसे लॉन्च किया गया।

इसके बाद स्वास्थ्य मंत्री की ओर से इस दवा को एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया को सौंपा गया। दवा को रिलीज किए जाने के मौके पर स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि डीआरडीओ के सहयोग और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की लीडरशिप में इस वैक्सीन को तैयार किया गया है। यह भारत की पहली पूर्ण स्वदेशी वैक्सीन हो सकती है, जो कोरोना संकट से निपटने में मदद करेगी।

यही नहीं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि इस वैक्सीन के जरिए कोरोना से रिकवरी का टाइम कम होगा। इसके अलावा ऑक्सीजन पर निर्भरता भी कम होगी।

Continue Reading

Trending