Connect with us

प्रादेशिक

महाराष्ट्र के नांदेड़ में साधु की हत्या, शव ले जाने की फिराक में था हत्यारा

Published

on

मुंबई। महाराष्ट्र के नांदेड़ जिले में लिंगायत समाज के साधु रुद्र पशुपति महाराज की हत्या का मामला सामने आया है। नांदेड़ अधीक्षक विजयकुमार मगर ने कहा कि देर रात नांदेड़ के उमरी में लिंगायत समुदाय के एक साधु का शव उनके आश्रम में पाया गया।

पशुपति महाराज के अलावा एक और शख्स की हत्या की गई है। जिसका नाम भगवान राम शिंदे बताया गया है। हालांकि इस शख्स की पहचान हत्यारोपी साईनाथ के साथी के रूप में हुई है। जानकारी के मुताबिक रात 12 बजे से साढ़े 12 के बीच साधु की हत्या हुई है।

हत्यारोपी साईनाथ शनिवार रात दरवाजा खोलकर आश्रम में दाखिल हुआ। क्योंकि कहीं भी दरवाजा तोड़ने के निशान नहीं हैं। पशुपति महाराज की हत्या करने के बाद आरोपी साईनाथ साधु की लाश कार में रखकर बाहर निकलने की फिराक में था।

लेकिन कार गेट में फंस गई। इस दौरान छत पर सो रहे आश्रम के दो सेवादार जाग गए। उन्हें जब तक सारी बात समझ में आती आरोपी भागने लगा। जिसके बाद सेवादारों ने आरोपी का पीछा किया। लेकिन वह भाग निकला।

इसी बीच रविवार सुबह जिला परिषद स्कूल के पास एक और शव मिला। दूसरे मृतक का नाम भगवान राम शिंदे है। पुलिस के मुताबिक वह आरोपी साईनाथ का साथी है और स्कूल के पास मृत पाया गया है।

भगवान राम शिंदे भी लिंगायत समाज से है। उसकी हत्या साईनाथ ने की या किसी और ने, पशुपति महाराज की हत्या से पहले या बाद में, तमाम सवालों पर पुलिस फिलहाल जांच कर रही है। पशुपति महाराज इस मठ में 2008 से रह रहे हैं। इस मठ को निर्वामी मठ के नाम से जाना जाता है।

 

प्रादेशिक

सीएम योगी ने शहीदों के परिवार को सरकारी नौकरी, पेंशन, 1 करोड़ का मुआवजा देने का किया एलान

Published

on

कानपुर। एनकाउंटर में 8 पुलिसकर्मियों की शहादत पर सीएम योगी ने दुःख जताया है। योगी ने कहा कि कानपुर में ‘कर्तव्य पथ’ पर अपना सर्वस्व न्योछावर करने वाले 8 पुलिसकर्मियों को भावभीनी श्रद्धांजलि।शहीद पुलिसकर्मियों ने जिस अपरिमित साहस व अद्भुत कर्तव्यनिष्ठा के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन किया, उ.प्र. उसे कभी भूलेगा नहीं। उनका यह बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। इसके साथ ही योगी ने शहीद पुलिसकर्मियों के परिवार को सरकारी नौकरी, असाधारण पेंशन और एक करोड़ मुआवजा देने की घोषणा की है।

बता दें कि कानपुर से सटे चौबेपुर के बिकरु गांव में शुक्रवार को तड़के पुलिस और विकास दुबे गिरोह के बीच हुए एनकाउंटर में 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। बताया जा रहा है कि विकास दुबे के पास एके-47 और अडवांस हथियार थे। मामले की जांच के लिए एसटीएफ गठित हुई है। यूपी पुलिस ने विकास दुबे का सुराग देने वाले को 50 हजार रुपये के इनाम का ऐलान भी किया है।

डीजीपी हितेश चन्द्र अवस्थी ने बताया कि विकास दुबे कानपुर का हिस्ट्रीशीटर भी हैं इसके ऊपर कई मुकदमें दर्ज हैं। इस पर दबिश डालने के लिए पुलिस बिकरू गांव पहुंची जहां पर पुलिस को रोकने के लिए इन्होंने पहले से ही जेसीबी वगैरह लगा कर रास्ता रोक रखा था। पुलिस पार्टी के पहुंचते ही बदमाशों ने छतों से पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी, जिसमें पुलिस के 8 जवान शहीद हो गए।

#CMYOGI #UTTARPRADESH #VIKASDUBEY #STF

Continue Reading

Trending