Connect with us

नेशनल

कोरोना से लड़ने के लिए घर से बाहर निकली ये एक्ट्रेस, ऐसे कर रही लोगों की मदद

Published

on

नई दिल्ली। कोरोना वायरस पूरी दुनिया में तेजी से लोगों को अपना निशाना बना रहा है। दुनियाभर में इस खतरनाक वायरस से 30 हजार से ज्यादा लोगों की जान चुकी है। अमेरिका जैसा शक्तिशाली देश भी इससे जूझता नजर आ रहा है।

पिछली 13 तारीख से भारत में भी कोरोना के मामलों में जबरदस्त इजाफा हुआ है। इन दिनों में देशभर से 900 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। देश में तेजी से फैल रहे वायरस को रोकने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से 21 दिनों तक घर में ही रहने का आग्रह किया है।

इस बीच एक ऐसी एक्ट्रेस है जो 21 दिनों के लॉकडाउन में भी घर पर नहीं बैठ रही है। दरअसल, फिल्म कांचली की एक्ट्रेस शिखा मल्होत्रा अस्पताल में लोगों की मदद कर रही हैं। उन्होंने बृहन्मुम्बई म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (BMC) के साथ मिलकर कोरोना वायरस मरीजों की सेवा करने की जिम्मेदारी उठाई है।

फिल्म इंडस्ट्री में आने से पहले शिखा ने नर्सिंग का कोर्स किया था। वर्धमान महावीर मेडिकल कॉलेज और नई दिल्ली स्थित सफदरजंग अस्पताल (2014) से उन्होंने नर्सिंग कोर्स किया है। हालांकि एक्टिंग में आने की वजह से उन्होंने कभी नर्सिंग की प्रैक्टिस पूरी नहीं की।

अभी देश और दुनिया में फैले इस महामारी के समय शिखा ने बतौर वालंटियर नर्स बनकर मरीजों की सेवा करने का फैसला किया। BMC ने उन्हें इसके लिए अप्रूवल लेटर भी दिया है।

शिखा को जोगेश्वरी ईस्ट स्थित हिन्दू ह्रदय सम्राट बालासाहेब ट्रॉमा हॉस्पिटल में वालंटियर करने का मौका मिला है। उन्हें आइसोलेशन वार्ड की जिम्मेदारी दी गई है।

सोशल मीडिया पर वायरल उनकी एक फोटो में एक्ट्रेस ने लिखा-‘ कॉलेज में अपना कोर्स खत्म करने के बाद हमने समाज की सेवा करने का संकल्प लिया था। मुझे लगता है वो वक्त आ गया है।’

फिल्मी करियर की बात करें तो उन्हें ‘कांचली’ में एक्टर संजय मिश्रा संग के साथ देखा गया था। इस फिल्म में उन्होंने मुख्य भूमिका निभाई थी। फिल्म में उनकी एक्टिंग को लोगों ने जमकर तारीफ की थी।

नेशनल

बडगाम में आतंकियों ने भाजपा नेता को उतारा मौत के घाट

Published

on

जम्मू| जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने भाजपा नेता की गोली माकर हत्या कर दी। मृतक अब्दुल हमीद नाजर बडगाम जिले के ओमपोरा इलाके में भारतीय जनता पार्टी के अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) मोर्चा के जिलाध्यक्ष थे। अब्दुल हमीद नजर को आतंकवादियों ने रविवार की सुबह उनके घर के पास गोली मार दी थी। वह सुबह की सैर के लिए घर से निकले थे।

गोलियां लगने से गंभीर रूप से घायल हुए नजर को अस्पताल ले जाया गया जहां सोमवार सुबह उसकी मौत हो गई। इस घटना को लेकर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और जांच शुरू कर दी है।

आतंकी विशेष रूप से भाजपा नेताओं को निशाना बना रहे हैं। जून माह से अब तक चार भाजपा नेताओं पर हमले हो चुके हैं। 11 जुलाई को बांदीपोरा के पूर्व जिला अध्यक्ष वसीम बारी की उनके पिता और भाई समेत हत्या कर दी गई थी। इसके बाद 15 जुलाई को सोपोर में भाजपा नेता मेहराजुद्दीन मल्ला को अगवा किया गया था, हालांकि इन्हें दस घंटे में ही मुक्त करा लिया गया था। इसके बाद चार अगस्त को कुलगाम में पंच पीर आरिफ अहमद शाह को गोली मार दी गई थी,छह अगस्त को सज्जाद खांडे की हत्या कर दी गई।

Continue Reading

Trending