Connect with us

प्रादेशिक

एक्जिट पोल में आम आदमी पार्टी को प्रचंड बहुमत, कांग्रेस का बुरा हाल

Published

on

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में शनिवार को हुए विधानसभा चुनाव में लोगों ने बड़ी संख्या में अपने मताधिकार का उपयोग किया।

दिल्ली की 70 सीटों पर कुल 61.46 फीसदी मतदान हुआ। राष्ट्रीय राजधानी की जनता ने किसे चुना है, यह नतीजा तो मंगलवार को पता चलेगा लेकिन मतदान खत्म होते ही देश के बड़े चैनलों द्वारा किए गए एग्जिट पोल में आम आदमी पार्टी को प्रचंड बहुमत मिलता दिख रहा है।

वहीं, लोकसभा चुनाव में दिल्ली की सभी सात सीटें जीतने वाली भाजपा को 2015 के मुकाबले फायदा दिख रहा है लेकिन वह बहुमत के आंकड़े से बहुत दूर रहेगी।

नौ महीने पहले आम चुनाव में मत प्रतिशत के मामले में राज्य की दूसरी बड़ी पार्टी रही कांग्रेस के अच्छे दिन अभी भी नहीं लौटे। एग्जिट पोल में भी पार्टी को अधिकतम चार सीटें मिलती ही दिख रही हैं। ज्यादातर एग्जिट पोल आप की दो-तिहाई बहुमत के साथ वापसी तय बता रहे हैं।

वहीं, कुछ ने तीन-चौथाई बहुमत का अनुमान जताया है। नागरिकता कानून (सीएए) और एनआरसी के खिलाफ विरोध-प्रदर्शनों के बीच हुए चुनाव में मुख्य लड़ाई आप और भाजपा के बीच ही रही। आप ने पांच साल के काम पर वोट मांगा, वहीं, भाजपा ने राष्ट्रवाद, शाहीन बाग को मुद्दा बनाया। 2015 के चुनाव में आप को 70 में से 67 और भाजपा को 3 सीटें मिली थीं।

प्रादेशिक

Corona Protection : आदर्श कारागार में हो रहा मास्क का रिकॉर्ड उत्पादन

Published

on

लखनऊ। राजधानी के आदर्श कारागार ने कोरोना से बचाव के लिए मास्क बनाने में प्रदेश के सभी जेलों को पीछे छोड़ दिया है। इस जेल में अभी तक 35 हज़ार से अधिक मास्क बनाये जा चुके है। यह जेल यहाँ निर्मित मास्क को सिर्फ जेलों में ही नही प्रदेश के स्वास्थ, पुलिस समेत अन्य विभागों को भी उपलब्ध करा रही है। जेल प्रशासन ने मास्क की बिक्री कीमत मात्र 5 रुपए रखी है।

आदर्श कारागार एशिया की एकमात्र जेल है जहाँ रहकर कैदी जेल के बाहर रहकर व्यवसाय करने के साथ परिवार का भी संचालन करते है। दुनिया मे कोरोना वायरस से प्रदेश के जेलों में बंद कैदियों को बचाने के लिए महानिदेशक/ महानिरीक्षक कारागार आनंद कुमार ने मास्क बने जाने का निर्णय लिया। इसके तरह प्रदेश की कई जेलों में मास्क का निर्माण कराया जा रहा है।

मिली जानकारी के मुताबिक राजधानी की आदर्श कारागार ने मास्क निर्माण में रिकॉर्ड तोड़ उत्पादन किया है। इस कारागार में अब तक 35 हज़ार से अधिक मास्क बनाये जा चुके है। मास्क का उत्पादन लगातार चल रहा है। आदर्श कारागार के सुपरिटेंडेंट आरएन पांडेय से जब इस संबंध में बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि कैदियों के द्वारा निर्मित मास्क की कीमत 5 रुपये रखी गयी है।

पांडेय का कहना है कि मास्क सस्ता होने की वजह से पुलिस प्रशिक्षण महाविद्यालय सीतापुर ने 6000 मास्क की डिमांड की थी उन्हें 2000 भेजे जा चुके है। इसी प्रकार पुलिस हेल्पलाइन 112 ने भी उनसे 2000 की डिमांड की थी उन्हें उपलब्ध करा दिए गए है। इस क्रम में निदेशक स्वास्थ, आरआई पुलिस लाइन समेत अन्य कई विभागों को अब तक 35 हज़ार 192 मास्क उपलब्ध कराए जा चुके है।

सुपरिटेंडेंट आदर्श कारागार पांडेय का कहना है कि मास्क की कीमत कम होने की वजह से डिमांड बहुत है।उत्पादन के हिसाब से विभागों को मास्क उपलब्ध कराए जा रहे है। इसका उत्पादन फिलहाल जारी है। मास्क निर्माण कार्य मे बड़ी संख्या में कैदी लगाये गए है। वह दिनरात मेहनत कर डिमांड को पूरा करने में जुटे हुए है।

प्रदेश की जेलों में मास्क निर्माण की जानकारी लेने के लिए जब महानिदेशक/ महानिरीक्षक आनंद कुमार से बात करने को कोशिश की गई तो उनला फ़ोन नही उठा। उधर अपर महानिरीक्षक कारागार प्रशासन वीके जैन ने बताया कि प्रदेश की जेलों में अब तक 1 लाख 12 हज़ार से अधिक मास्क का निर्माण किया जा चुका है। मास्क निर्माण का कार्य लगातार जारी है।

रिपोर्ट – राकेश यादव

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending