Connect with us

प्रादेशिक

यूपी में दारोगा के 5 हजार पदों पर बंपर भर्तियां, इस दिन जारी होगा नोटिफिकेशन

Published

on

लखनऊ। सरकार नौकरी का सपना संजोए युवाओं के लिए खुशखबरी है। उत्तर प्रदेश में दारोगा के 5 हजार से अधिक पदों के लिए अगले महीने से भर्ती प्रक्रिया शुरू होने जा रही है।

दारोगा के इन पदों के लिए पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड सितंबर के अंत में विज्ञापन निकालेगा जबकि नवंबर के अंत में या दिसंबर की शुरुआत में लिखित परीक्षा कराए जाने की संभावा है वहीं फरवरी 2020 में दौड़ कराने पर विचार किया जाएगा।

भर्ती बोर्ड के अध्यक्ष राजकुमार विश्वकर्मा ने बताया कि भर्ती परीक्षा के लिए एजेंसी का चयन किया जा रहा है। टेंडर आमंत्रित किए गए हैं। एक माह में एजेंसी का चयन हो जाएगा।

आपको बता दें कि अनुसूचित जनजाति के अभ्यर्थियों के लिए पहली बार सोनभद्र में अलग से परीक्षा केंद्र बनाया जाएगा। लिखित परीक्षा पास करने वाले आदिवासी अभ्यर्थियों की दौड़ भी यहीं कराई जाएगी, ताकि वे अधिक से अधिक संख्या में भर्ती में शामिल हो सकें।

पिछली भर्ती में अनुसूचित जनजाति से एक भी योग्य अभ्यर्थी नहीं मिला था। गौरतलब है कि सर्वाधिक आदिवासी इसी जिले में हैं।

प्रादेशिक

सीएम योगी बोले, कोरोना की रोकथाम के लिए लखनऊ, कानपुर व मेरठ के लिए विशेष रणनीति बनाएं अधिकारी

Published

on

लखनऊ। यूपी में कोरोना के मामलों को देखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को अपने सरकारी आवास पर एक उच्चस्तरीय बैठक करते हुए अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने लखनऊ , कानपुर नगर और मेरठ में कोविड-19 के सम्बन्ध में विशेष रणनीति बनाकर कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने कहा कि टेस्टिंग और सर्विलांस जितना सुदृढ़ होगा, कोरोना के प्रसार को रोकने में उतनी ही अधिक सफलता मिलेगी। योगी ने मुख्य सचिव को निर्देश दिए कि माइक्रो कन्टेनमेन्ट जोन, टेस्टिंग और सर्विलांस के सम्बन्ध में निरन्तर फीडबैक लेते हुए उचित कार्रवाई करें। कोविड की रोकथाम के लिए लखनऊ , कानपुर नगर व मेरठ के लिए विशेष रणनीति बनाई जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दर को नियंत्रित करने में सफलता मिली है। पिछले एक सप्ताह में सक्रिय कोरोना के मामलों की संख्या में काफी कमी आई है, यह एक अच्छा संकेत है और ये दर्शाता है कि राज्य सरकार की कोविड-19 के प्रति अपनाई गई रणनीति कारगर रही है। कोविड-19 नियंत्रण सम्बन्धी कार्य सक्रियता के साथ निरन्तर जारी रखें जाएं। उन्होंने फोकस्ड टेस्टिंग किए जाने पर बल देते हुए कहा कि कोविड बेड्स की संख्या में बढ़ोतरी सुनिश्चित की जाए।

Continue Reading

Trending