Connect with us

प्रादेशिक

बाबरी केस के पक्षकार इकबाल अंसारी ने घर हुआ हनुमान चालीसा का पाठ, बगल में बैठ खुद पढ़ते रहे……..

Published

on

लखनऊ। मंगलवार का दिन हिंदू मान्यताओं के हिसाब से बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। मान्यताओं के अनुसार ये दिन बजरंगबली का दिन होता है।

इस दिन भगवान हनुमान की भक्तों पर विशेष कृपा रहती है। भक्त इस दिन हनुमान चालीसा का पाठ करते हैं। 30 जुलाई यानी मंगलवार को भी हर जगह की तरह ही अयोध्या में भी हनुमान चालीसा का पाठ हुआ लेकिन ये पाठ किसी मंदिर में नहीं बल्कि एक मुस्लिम शख्स के घर पर हुआ।

ये शख्स कोई और नहीं इकबाल अंसारी हैं जो बाबरी मस्जिद केस में मुस्लिम पक्षकार हैं। इकबाल अंसारी के घर मंगलवार शाम को हनुमान चालीसा का पाठ किया गया साथ ही बगल में कुरान की आयतें भी पढ़ी गई।

कुरान की ये आयतें खुद इकबाल ने ही पढ़ी। मंगलवार की शाम तपस्वी जी की छावनी के महंत और राम मंदिर निर्माण के लिए कोशिश कर रहे संत परमहंस दास ने इकबाल अंसारी के आवास पर हनुमान चालीसा का पाठ किया।

वहीं बगल में मौजूद इकबाल अंसारी ने कुरान की आयतें पढ़ीं। इकबाल अंसारी ने कहा कि वो चाहते हैं कि राम मंदिर और बाबरी मस्जिद मामले पर सुप्रीम कोर्ट जल्द से जल्द फैसला सुनाए।

इकबाल अंसारी का कहना है कि यह मामला काफी पुराना हो चुका है। 70 सालों से इस पर राजनीति हो रही है और अब जल्द से जल्द इस पर फैसला आना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस केस की रोजाना सुनवाई शुरू हो और जितना जल्दी संभव हो सके फैसला आए।

संत परमहंस दास ने कहा, “जितना जल्दी सुप्रीम कोर्ट फैसला सुना देगा उतना ही अच्छा होगा और पिछले 70 सालों का झगड़ा खत्म हो जाएगा। कुछ अराजक तत्व हैं जो लोगों को भड़काने का काम करते हैं, ऐसी स्थिति पैदा ना हो इसके लिए हम लोगों ने मिलकर वेदों का पाठ किया है, हनुमान चालीसा पढ़ा, पुराण का पाठ किया और इकबाल भाई ने कुरान पढ़ी।”

प्रादेशिक

दो साल तक अपनी बेटी की इज्जत लूटता रहा दरिंदा, फिर एक दिन….

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले के एक व्यक्ति को अपनी 19 वर्षीय बेटी से दो साल तक दुष्कर्म करने और फिर उसकी हत्या करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने यह जानकारी दी।

यह घटना गोरखपुर में हुई और आरोपी को शुक्रवार को उसकी बड़ी बेटी की शिकायत के आधार पर गिरफ्तार कर लिया गया।

पुलिस ने कहा कि व्यक्ति ने अपनी छोटी बेटी के साथ पिछले दो सालों में कई बार दुष्कर्म किया और फिर 26 जुलाई की रात उसे मार डाला। आरोपी ने उसके सिर को धड़ से अलग कर दिया। वहशी पिता ने उरवा इलाके में उसके सिर को दफना दिया और शरीर के निचले हिस्से को एक नाले में फेंक दिया।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) सुनील गुप्ता ने कहा, “पूछताछ के दौरान, आरोपी ने पुलिस के सामने स्वीकार किया कि उसने पिछले दो वर्षों में अपनी बेटी के साथ कई बार दुष्कर्म किया और फिर उसकी हत्या कर दी।”

आरोपी की पत्नी की 15 साल पहले मौत हो चुकी है और उसकी बड़ी बेटी की शादी 2015 में हुई थी। वह छोटी बेटी के साथ रह रहा था।

बड़ी बेटी को उस समय शक हुआ जब उसकी बहन रक्षा बंधन पर उससे मिलने नहीं गई। जब उसने इस बारे में पूछताछ की, तो आरोपी ने उसे बताया कि उसने अपनी छोटी बेटी की हत्या कर दी है।

एसएसपी ने बताया, “पुलिस ने शव को बरामद कर लिया है। आरोपी पिता के खिलाफ हत्या और दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया है और उसे जेल भेज दिया गया है।”

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending