Connect with us

नेशनल

एक्ट्रेस जाह्नवी उग्रवादी संगठन से संबंध रखने के आरोप में गिरफ्तार, जांच में जुटी पुलिस

Published

on

नई दिल्ली। गुवाहाटी के जू रोड पर बुधवार को हुए ग्रेनेड हमले के बाद पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए एक एक्ट्रेस सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

इस हमले में 11 लोग घायल हो गए थे। जिसमें दो सुरक्षाबल भी शामिल हैं। गुवाहाटी के पुलिस आयुक्त दीपक कुमार ने कहा कि शिवसागर के रहने वाले प्रणोमोय राजगुरु और मशहूर टीवी एक्ट्रेस जाह्नवी सैकिया को बाघोरबारी क्षेत्र में एक किराए के घर पर छापेमारी कर गिरफ्तार किया गया है।

आपको बता दें कि जाह्नवी पर राजगुरु की मदद करने का आरोप है। पुलिस के मुताबिक दोनों ने यूनाइटेड लिबरेशन फ्रंट ऑफ असोम (उल्फा) की तरफ से हमले की योजना बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

दीपक कुमार ने बताया कि जांच के दौरान किराए के घर में पुलिस को विस्फोटक मिले हैं। जिसमें 20 किलो गनपाउडर और बम बनाने वाले हथियार शामिल हैं। इसके अलावा 9एमएम की पिस्टल, 25 राउंड गोलाबारूद और उल्फा से संबंधित साहित्य मिला है।

पुलिस का दावा है कि राजगुरु 1986 से ही उल्फा में सक्रिय था जो गुवाहाटी और पड़ोसी क्षेत्रों में कैडर की गतिविधियों पर नजर रखता था। सैकिया ने कथित तौर पर उनकी सहायता की और हमलों के लिए लक्षित क्षेत्रों में कैडर को ले जाने में मदद की।

दीपक कुमार ने कहा, ‘वह उल्फा के स्लीपर सेल की तरह काम कर रहे हैं। हाई कमांड से निर्देश लेकर उन्हें निष्पादित कर रहे हैं। दोनों बुधवार को हुए धमाकों में प्रत्यक्ष रूप से शामिल थे।

जांच जारी है और अन्य लोगों की भी गिरफ्तारी हो सकती है।’ डीजीपी कुलधर सैकिया ने कहा, ‘जांच अभी जारी है। हम मुख्य आरोपियों से पूछताछ कर रहे हैं और अपेक्षा है कि और गिरफ्तारियां हो सकती हैं।’

पुलिस सूत्रों ने कहा, ‘उन्होंने इसी घर से हमले की योजना बनाई। हम यह पता करने की कोशिश कर रहे हैं जब ग्रेनेड फेंका गया तो वह मौके पर मौजूद थी या नहीं।’

नेशनल

354 करोड़ के घोटाले में ईडी ने किया रतुल पुरी को गिरफ्तार

Published

on

नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के भांजे व मोजर बेयर के पूर्व कार्यकारी निदेशक रतुल पुरी को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया।

उन्हें 354 करोड़ रुपये के धोखाधड़ी मामले में गिरफ्तार किया है। ईडी ने यह कार्रवाई केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा पुरी, उनकी कंपनी, उनके पिता व प्रबंध निदेशक दीपक पुरी, निदेशकों नीता पुरी (रतुल की मां और कमलनाथ की बहन), संजय जैन और विनीत शर्मा के खिलाफ आपराधिक साजिश, धोखाधड़ी, जालसाजी और भ्रष्टाचार के आरोप में मामला दर्ज करने के तीन दिन बाद की है।

सीबीआई ने रविवार को आरोपी निदेशकों के आवासों और कार्यालयों सहित छह स्थानों पर तलाशी भी ली थी। बैंक ने एक बयान में कहा था कि रतुल ने 2012 में कार्यकारी निदेशक के पद से इस्तीफा दे दिया था, जबकि उनके माता-पिता बोर्ड में बने रहे। कंपनी कॉम्पैक्ट डिस्क, डीवीडी, सॉलिड स्टेट स्टोरेज डिवाइस जैसे ऑप्टिकल स्टोरेज मीडिया के निर्माण में शामिल है।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending