Connect with us

प्रादेशिक

एनडी तिवारी के बेटे रोहित की हुई थी हत्या, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ खुलासा

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की मौत के मामले में नया मोड़ आ गया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि शेखर तिवारी की मौत प्राकृतिक नहीं थी।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद दिल्ली क्राइम ब्रांच ने अज्ञात के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज किया है।

रिपोर्ट सामने आने के बाद शुक्रवार को क्राइम ब्रांच की टीम और वरिष्ठ अधिकारी डिफेंस कॉलोनी स्थित रोहित के घर पर पहुंचे थे। टीम रोहित के घर की जांच से मौत की वजह पता लगाने की कोशिश कर रही है।

दिल्ली पुलिस ने बताया कि स्व. एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में ‘अप्राकृतिक मौत’ की बात सामने आई है। अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 (हत्या का मामला) के तहत मामला दर्ज किया गया।

आपको बता दें कि मंगलवार को रोहित शेखर तिवारी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। तबीयत खराब होने पर शाम करीब 4 बजकर 41 मिनट पर साकेत स्थित मैक्स अस्पताल ले जाया गया था।

जांच के बाद डॉक्टरों ने रोहित को मृत घोषित कर दिया। डॉक्टरों का कहना है कि 40 वर्षीय रोहित की मौत अस्पताल में लाने से पहले ही हो गई थी।

प्रादेशिक

नहीं रहे छत्तीसगढ़ के पहले सीएम अजीत जोगी, लंबे समय से थे बीमार

Published

on

रायपुर। छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री अजीत जोगी का शुक्रवार को निधन हो गया। वे 74 साल के थे। लंबे समय से रायपुर के एक अस्पताल में भर्ती थे। दिल का दौरा पड़ने के बाद उन्हें हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था।

19 दिन के अंदर तीसरी बार दिल का दौरा पड़ने के बाद उनकी हालत गंभीर हो गई थी। जाेगी 2000 से 2003 के बीच छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रहे।

जोगी 9 मई से कोमा में थे। इमली का बीज गले में अटकने की वजह से उन्हें पहली बार दिल का दौरा पड़ा था। इसके बाद 27 की मई की रात भी उन्हें दिल का दौरा पड़ा।  उनके निधन की जानकारी उनके बेटे अमित जोगी ने ट्वीट कर दी।

उन्होंने लिखा कि 20 वर्षीय युवा छत्तीसगढ़ राज्य के सिर से आज उसके पिता का साया उठ गया. केवल मैंने ही नहीं बल्कि छत्तीसगढ़ ने नेता नहीं,अपना पिता खोया है. अजीत जोगी ढाई करोड़ लोगों के अपने परिवार को छोड़कर, ईश्वर के पास चले गए. गांव-गरीब का सहारा, छत्तीसगढ़ का दुलारा,हमसे बहुत दूर चला गया.

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending