Connect with us

नेशनल

गिरिराज का फिर छलका दर्द, कहा- मैं कोई नया कार्यकर्ता नहीं हूं

Published

on

पटना। केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता गिरिराज सिंह का नवादा सीट बदलकर उन्हें बेगूसराय से उम्मीदवार बनाए जाने पर उनका दर्द एक बार फिर छलक उठा है। उन्होंने मंगलवार को कहा कि केंद्रीय नेतृत्व से उन्हें कोई शिकायत नहीं है, लेकिन स्वाभिमान से समझौता नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि बिहार के प्रदेश नेतृत्व को इसका जवाब देना चाहिए। इस बीच, उनके बयान पर बेगूसराय के वामपंथी दलों के उम्मीदवार कन्हैया ने तंज कसा है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि उनकी पीड़ा है कि उनकी सीट बदलने के पूर्व उन्हें विश्वास में नहीं लिया गया। उन्होंने कहा, “मैं तो पिछली बार भी बेगूसराय से ही चुनाव लड़ना चाहता था, परंतु नेतृत्व ने मुझे नवादा भेजा था। बेगूसराय मेरी कर्मभूमि है।” उन्होंने कहा, “बेगूसराय से चुनाव लड़ना मेरे लिए सौभाग्य की बात है। बिहार में किसी नेता का सीट नहीं बदला चाहे वह मंत्री हो या सांसद, लेकिन मेरी सीट बदली गई। मैं नया कार्यकर्ता नहीं हूं।”

बेगूसराय लोकसभा क्षेत्र से भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) के उम्मीदवार कन्हैया कुमार ने गिरिराज सिंह को ‘पाकिस्तान टूर एंड ट्रैवेल्स विभाग’ का वीजा-मंत्री बताते हुए कटाक्ष किया। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्रसंघ (जेएनयूएसयू) के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया ने ट्वीट किया, “बताइए, लोगों को जबरदस्ती पाकिस्तान भेजने वाले ‘पाकिस्तान टूर एंड ट्रैवेल्स विभाग’ के वीजा-मंत्री जी नवादा से बेगूसराय भेजे जाने पर ‘हर्ट’ हो गए। मंत्री जी ने तो कह दिया “बेगूसराय को वणक्कम”।”

नेशनल

पार्टी छोड़ते ही प्रियंका चतुर्वेदी ने कांग्रेस पर किया बड़ा हमला, कह दी ये बड़ी बात

Published

on

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा देने के बाद प्रियंका चतुर्वेदी आखिरकार शिवसेना में शामिल हो गईं। शनिवार को प्रियंका ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की उपस्थिति में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

शिवसेना में शामिल होते ही प्रियंका कांग्रेस पर हमलावर हो गईं। उन्होंने कहा कि उनके आत्मसम्मान को ठेस पहुंचाई गई जिसके बाद उन्होंने पार्टी छोड़ने का फैसला कर लिया।

उन्होंने कहा कि मैं मुंबई के लिए काम करना चाहती हूं यही कारण है कि इस दल में शामिल हुई हूं। प्रियंका बोलीं कि कांग्रेस में जब कुछ लोगों ने उनके साथ बदसलूकी की, लेकिन वापस उन्हें पार्टी में जगह दी जाती है इससे उनके आत्मसम्मान को ठोस पहुंचीं। प्रियंका ने कहा कि मुझे पता है अब मेरे ऊपर सवाल उठाए जाएंगे, पिछले ट्वीट्स को उछाला जाएगा।

लेकिन मैंने सोच समझकर ये फैसला लिया है। मुझे उम्मीद थी कि उन्हें लोकसभा का टिकट जरूर मिलेगा, लेकिन मैं उससे निराश नहीं थी।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending