Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

विंग कमांडर अभिनंदन को बॉर्डर पर छोड़ने आई महिला कौन थी? कुलभूषण जाधव से है गहरा संबंध

Published

on

अभिनंदन

भारत के विंग कमांडर पायलट अभिनंदन को पाकिस्तान ने शुक्रवार को अटारी-वाघा बॉर्डर पर छोड़ दिया। उनको रात 9 बजे के बाद लाया गया। इस देरी की वजह अब सामने आ गई है। पाकिस्तानी सेना ने उनका एक वीडियो बनाया है जिसकी वजह से देरी हुई। वाघा-बॉर्डर तक अभिनंदन को छोड़ने एक महिला आई थी। चलिए आपको बताते हैं कि कौन है वो महिला।अभिनंदनकल इस महिला पर सबकी निगाहें बनी थी। असल इस महिला का नाम है डॉ फरिहा बुगाती। ये पाकिस्तान के विदेश मामलों को देखती हैं। फरिहा बुगती पाकिस्तान विदेश सेवा (FSP) की अधिकारी हैं, जो भारतीय विदेश सेवा (IFS) के समकक्ष है।

इसे वीडियो को देखें- 10 बजे आने वाले Abhinandan Varthaman की वापसी पर फंसा पेंच! |Wing Commander| Wagha Border

डॉ फरिहा बुगती भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव मामले को भी देखती हैं। फिलहाल जाधव पाकिस्तान की गिरफ्त में हैं। पिछले साल जब जाधव की मां और पत्नी उनसे मिलने पाकिस्तान गए थे, तब भी डॉ फरिहा बुगती मौजूद थीं।

अन्तर्राष्ट्रीय

शख्स ने चूहे के लिए बनवा दिया आलीशान बंगला, देखें शानदार तस्वीर

Published

on

लंदन। आज के समय में जहां लोग केवल अपने फायदे के बारे में सोचते हैं ऐसे माहौल में कुछ ऐसे भी दरियादिल लोग हैं जो दूसरों की मदद करने कभी पीछे नहीं हटते।

चाहे वो कोई चूहा ही क्यों न हो? जी हां हम बात कर रहे हैं एक शख्स की जिसने चूहों की जिंदगी बचाने के लिए उन्हें लिए आलीशान बंगला बनवा दिया।

शख्स का नाम साइमन डेल है। डेल एक प्रोफेशनल वाइल्ड लाइफ फोटोग्राफर हैं। डेल ने अपने बगीचे के एक हिस्से में चूहों के लिए ये शानदार घर बनवाया है। वे उन्हें फल तथा कई तरह की खाने की चीजें देते हैं।

डेल बताते हैं, “मैंने कुछ दिन पहले घर के पीछे स्थित बगीचे को संवारने का काम शुरू किया था। देखा कि एक जंगली चूहा लगातार मुझे देख रहा है।

उससे कुछ ही दूरी पर एक बिल्ली उस चूहे को ताक रही थी। मुझे लगा कि बिल्ली चूहे का शिकार कर लेगी। सुरक्षा देने के लिए मैं घर में गया और एक बॉक्स लाकर मिट्‌टी में फिट कर कंटीले तार लगा दिए।”

डेल ने चूहे का नाम रखा जॉर्ज। उन्होंने बताया कि चूहा उनके बनाए घर में रहने लगा। फिर मैंने देखा कि उसके साथ एक चूहिया भी थी और वह गर्भवती थी। कुछ वक्त बाद वहां और चूहे जमा हो गए।

डेल ने बताया कि जब उनका परिवार बढ़ने लगा तो मैंने कुछ कमरे और बना दिए। जो अंदर ही अंदर एक-दूसरे से जुड़े हुए थे। कुछ ही दिनों में डेल ने चूहों के लिए मिनी गांव बना डाला।

अब यहां नौ चूहों का एक परिवार बस चुका था। चूहों के घर के पास मक्का, जामुन, सेब, मूंगफली जैसे कई तरह की चीजें जमा कीं। डेल कहते हैं कि जब चूहे इन चीजों को खाकर संतुष्टि महसूस करते हैं तो मैं अपने कैमरे से उनके चेहरे के भाव कैद करता हूं।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending