Connect with us

नेशनल

कांग्रेस के शपथ ग्रहण समारोह में बीजेपी का प्रचार करती नजर आईं पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे

Published

on

राजस्थान में हुए विधानसभा चुनावों के नतीजे आने के बाद कांग्रेस पार्टी के नेता अशोक गहलोत एक बार फिर से सीएम बने। सोमवार को अल्बर्ट हॉल प्रांगण में राजस्थान में अशोक गहलोत ने सीएम का पद ग्रहण किया। इस दौरान समारोह में कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेताओं के साथ राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया भी यहां पर नजर आयीं और उन्होंने बड़ी गर्मजोशी के साथ सभी से मुलाक़ात भी की।

इस दौरान वसुंधरा राजे सिंधिया की एक फोटो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है। जिसके बारे में जानकार आपको हैरानी होगी। इस समारोह में वो अपने भतीजे और कांग्रेस के नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया से गले मिल रही थीं। तभी लोगों की नजर वसुंधरा राजे के परिधान और उनके गहनों गयीं। तब लोगों ने ध्यान दिया कि उन्होंने कान की जो बालियां पहनी हैं उनमें भाजपा का चुनाव चिन्ह यानी कमल बना हुआ है, इसके बाद आप जब उनके कंगन पर नजर डालेंगे तो वो भी भगवे रंग का है।

IMAGE COPYRIGHT: GOOGLE

इसके साथ ही वसुंधरा राजे ने जो साड़ी पहन रखी थी, वो भगवे रंग की साड़ी है। जिसमें कमल चिन्ह की प्रिंटिंग की थी। ऐसे में अशोक गहलोत के शपथ ग्रहण समारोह में वसुंधरा राजे ने जमकर बीजेपी का प्रचार किया है और ज्यादातर लोगों ने इस बात को गौर तक नहीं किया।

Continue Reading

नेशनल

शपथ लेने के दौरान लगे जय श्रीराम के नारे, पलटकर ओवैसी ने कहा अल्लाह-हू-अकबर

Published

on

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के बाद शुरू हुए संसद सत्र के दूसरे दिन आल इंडिया मजलिस-इ-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने बतौर सांसद शपथ ली।

इस दौरान संसद में अलग नजारा देखने को मिला। दरअसल, मंगलवार को जैसे ही ओवैसी शपथ के उठे बीजेपी और उसके सहयोगी दलों के सांसदों ने जय श्रीराम, भारत माता की जय, वंदे मातरम के नारे लगाने शुरू कर दिए।

इसके बाद ओवैसी ने इशारों में और जोर-जोर से नारे लगाने के लिए कहा। इसके बाद उन्होंने सांसद पद की शपथ ली और अंत में जय भीम, जय मीम, अल्लाह-हू-अकबर और जय हिन्द के नारे लगाए।

शपथ के दौरान हुई नारेबाजी पर ओवैसी ने कहा कि अच्छी बात है कम से कम मुझे देखकर उन्हें राम की याद तो आई। उन्होंने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि उम्मीद है कि बीजेपी वालों को संविधान और मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत भी याद रहेगी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending