Connect with us

प्रादेशिक

कानपुर के मशहूर हैलट अस्पताल में आईसीयू का एसी फेल, 5 मरीजों की मौत

Published

on

उत्तर प्रदेश के कानपुर के मशहूर हैलट अस्पताल में गुरुवार देर रात इंटेसिव केयर यूनिट (आईसीयू) का एसी सिस्टम फेल होने से पांच मरीजों की मौत हो गई। हालांकि, अस्पताल प्रशासन इस बात से इनकार कर रहा है कि एसी फेल होने से मरीजों की मौत हुई है। पर प्रशासन ने मामले संज्ञान में आने पर तत्काल दो एसी की व्यवस्था कराई। अस्पताल के मुताबिक, यह मौतें पिछले 24 घंटों के दौरान हुई हैं।

अस्पताल सूत्रों के अनुसार, एसी में पिछले कई दिनों से खराबी देखने को मिल रही थी। जिसके बाद उसे ठीक कर दिया जाता था लेकिन गुरुवार सुबह आईसीयू के सारे एसी बंद हो गए। ओवर हीटिंग के कारण सभी उपकरणों ने काम करना बंद कर दिया। समय से मेन्टेनेंस नहीं होने के कारण एसी में खराबी आई।

आईसीयू प्रभारी डॉ. सौरभ अग्रवाल का कहना है कि बीते 24 घंटे में पांच मरीजों की मौत हुई है, मगर एसी फेल होने से नहीं। तीन मरीजों की मौत हार्ट अटैक से हुई जबकि दो मरीज काफी गंभीर थे। उन्हें देर रात न्यूरोसर्जरी आईसीयू में शिफ्ट करने की तैयारी की जा रही थी।

इस बीच अपर जिलाधिकारी सतीश पाल का कहना है कि जैसे ही ये मामला डीएम के संज्ञान में आए, उन्होंने तत्काल दो एसी की व्यवस्था कराई। इस संबंध में चिकित्सकों से बात भी की गई। प्रथम दृष्टया कोई और वजह सामने नहीं आई है। (इनपुट आईएएनएस)

प्रादेशिक

कुलदीप सेंगर की विधानसभा सदस्यता खत्म, अधिसूचना जारी

Published

on

लखनऊ। उन्नाव से विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की विधानसभा सदस्यता समाप्त कर दी गई है। इस बारे में उत्तर प्रदेश विधानसभा सचिवालय ने अधिसूचना जारी कर दी है।

विधानसभा के प्रमुख सचिव प्रदीप कुमार दुबे की ओर से जारी की गई अधिसूचना में सेंगर की सदस्यता उस दिन से ही समाप्त की गई थी, जिस दिन उसे सजा सुनाई गई थी।

अधिसूचना के मुताबिक 20 दिसंबर 2019 से उन्नाव जिले की बांगरमऊ विधानसभा सीट को रिक्त घोषित किया गया है। सेंगर उन्नाव दुष्कर्म मामले में आजीवन करावास की सजा भुगत रहे हैं।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने दुष्कर्म का आरोप लगने पर सेंगर को पार्टी से बाहर कर दिया था। इससे बांगरमऊ विधानसभा सीट रिक्त हो गई है। इस सीट पर उपचुनाव होगा।

लेकिन, इसकी तिथि का ऐलान अभी होना बाकी है। कुलदीप सिंह सेंगर की विधानसभा सदस्यता 20 दिसंबर 2019 से ही खत्म मानी जाएगी। इसी दिन सेंगर को सजा सुनाई गई थी।

गौरतलब हो कि कुलदीप सिंह सेंगर पर आरोप है कि 2017 में उसने एक नाबालिग युवती को अगवा कर दुष्कर्म किया। सेंगर पर आरोप लगाने वाली महिला की कार को जुलाई में एक ट्रक ने टक्कर मार दी थी, जिसमें वह गंभीर रूप से जख्मी हो गई थी।

दुर्घटना में महिला की दो रिश्तेदार मारी गईं और उसके परिवार ने इसमें षड्यंत्र होने के आरोप लगाए थे। फिलहाल, सेंगर तिहाड़ जेल में बंद है।

सामूहिक दुष्कर्म के दो साल पुराने मामले में दोषी कुलदीप सिंह सेंगर (53) को दिल्ली की एक कोर्ट ने 20 दिसंबर को उम्रकैद की सजा सुनाई। कोर्ट ने कहा कि उसे मृत्यु तक जेल में रखा जाए। सेंगर पर 25 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया था।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending