Connect with us

प्रादेशिक

कैराना लोकसभा उपचुनाव मतगणना में राष्ट्रीय लोकदल, नूरपुर विधानसभा उपचुनाव में सपा आगे

Published

on

उत्तर प्रदेश के कैराना लोकसभा और नूरपुर विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव की गुरुवार को मतगणना शुरू हो गई। शुरुआती रुझानों में उत्तर प्रदेश की कैराना लोकसभा सीट और नूरपुर विधानसभा सीट पर गुरुवार को हो रही मतगणना में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार पीछे चल रहे हैं।

कैराना में राष्ट्रीय लोकदल की उम्मीदवार तबस्सुम लगभग 40,000 मतों से आगे चल रही है जबकि नुरपूर में सपा उम्मीदवार नईमुल हसन अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा की उम्मीदवार अवनी सिंह से लगभग 5,000 मतों से आगे चल रहे हैं।

कैराना और नूरपुर में 28 मई को मतदान हुआ था लेकिन मतदान के दौरान कई ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी की शिकायतें आने के बाद कैराना के 73 मतदान केंद्रों पर बुधवार को पुनर्मतदान कराया गया था। इसके बाद गुरुवार सुबह आठ बजे से मतगणना का काम चल रहा है। दोपहर बाद तक नतीजे आने की उम्मीद है।

कैराना लोकसभा सीट पर भाजपा ने अपने वरिष्ठ नेता हुकुम सिंह के निधन के बाद उनकी बेटी मृगांका सिंह को उम्मीदवार बनाया था जबकि गठबंधन की ओर से राष्ट्रीय लोकदल की उम्मीदवार तबस्सुम हसन मैदान में हैं।

नूरपुर में भाजपा प्रत्याशी अवनी सिंह, सपा प्रत्याशी नईमुल हसन और लोकदल प्रत्याशी गौहर इकबाल में मुकाबला है। नूरपुर में भाजपा विधायक लोकेंद्र चौहान के निधन के कारण उपचुनाव हो रहे हैं।

गौरतलब है कि कैराना लोकसभा सीट के उपचुनाव पर देश के राजनीतिक दलों की निगाहें हैं। क्योंकि 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले हो रहे इस उपचुनाव के नतीजे देश की सियासत को नया संदेश देने वाले हैं। वर्ष 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में कैराना सीट पर भाजपा के हुकुम सिंह जीते थे। हुकुम सिंह को इस चुनाव में कुल 565,909 मत मिले थे जबकि सपा की नाहिद हसन दूसरे नंबर पर रही थीं और उन्हें 32,9081 वोट मिले थे। बसपा के कुंवर हसन तीसरे स्थान पर आए थे और उन्हें 16,0444 वोट मिले थे। (इनपुट आईएएनएस)

प्रादेशिक

यूपी बोर्ड के स्टूडेंट्स का जल्द खत्म होगा इंतजार, इतने दिनों के बाद आ सकता है रिजल्ट

Published

on

लखनऊ। यूपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं के स्टूडेंट्स का इंतजार जल्द खत्म होने जा रहा है। दरअसल, बोर्ड ने रिजल्ट जारी करने को लेकर तैयारियां तेज कर दी हैँ।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यूपी बोर्ड 10वीं और 12वीं की कक्षाओं की बोर्ड परिक्षाओं के परिणामों की घोषणा जून माह के अंत तक की जा सकती है। हालांकि माध्यमिक शिक्षा परिषद की ओर से कोई भी आधिकारिक जानकारी उपलब्ध नहीं करायी गयी है।

बता दें कि यूपी बोर्ड के 90 फीसदी से अधिक कॉपियों का मूल्यांकन पूरा होने के साथ ही बच्चों को मिले अंक विषयवार अंकपत्र पर चढ़ाए जाने लगे हैं। जिस तेजी से मूल्यांकन हुआ है, अब परिणाम जून अंत तक आने की पूरी संभावना बन गई है।

इसी के साथ परीक्षा में सम्मिलित 50 लाख से अधिक छात्र-छात्राओं का इंतजार भी पूरा हो जाएगा। मूल्यांकन और परिणाम तैयार करने की शासनस्तर पर लगातार समीक्षा भी हो रही है।

23 मई तक कुल 3.10 उत्तरपुस्तिकाओं में से सवा दो करोड़ से अधिक का मूल्यांकन हो चुका था। अब तक 90 प्रतिशत से अधिक कॉपियां जांची जा चुकी है और इस हफ्ते सभी 281 केंद्रों पर मूल्यांकन पूरा हो जाएगा।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending