Connect with us

प्रादेशिक

कैराना लोकसभा उपचुनाव मतगणना में राष्ट्रीय लोकदल, नूरपुर विधानसभा उपचुनाव में सपा आगे

Published

on

उत्तर प्रदेश के कैराना लोकसभा और नूरपुर विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव की गुरुवार को मतगणना शुरू हो गई। शुरुआती रुझानों में उत्तर प्रदेश की कैराना लोकसभा सीट और नूरपुर विधानसभा सीट पर गुरुवार को हो रही मतगणना में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार पीछे चल रहे हैं।

कैराना में राष्ट्रीय लोकदल की उम्मीदवार तबस्सुम लगभग 40,000 मतों से आगे चल रही है जबकि नुरपूर में सपा उम्मीदवार नईमुल हसन अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा की उम्मीदवार अवनी सिंह से लगभग 5,000 मतों से आगे चल रहे हैं।

कैराना और नूरपुर में 28 मई को मतदान हुआ था लेकिन मतदान के दौरान कई ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी की शिकायतें आने के बाद कैराना के 73 मतदान केंद्रों पर बुधवार को पुनर्मतदान कराया गया था। इसके बाद गुरुवार सुबह आठ बजे से मतगणना का काम चल रहा है। दोपहर बाद तक नतीजे आने की उम्मीद है।

कैराना लोकसभा सीट पर भाजपा ने अपने वरिष्ठ नेता हुकुम सिंह के निधन के बाद उनकी बेटी मृगांका सिंह को उम्मीदवार बनाया था जबकि गठबंधन की ओर से राष्ट्रीय लोकदल की उम्मीदवार तबस्सुम हसन मैदान में हैं।

नूरपुर में भाजपा प्रत्याशी अवनी सिंह, सपा प्रत्याशी नईमुल हसन और लोकदल प्रत्याशी गौहर इकबाल में मुकाबला है। नूरपुर में भाजपा विधायक लोकेंद्र चौहान के निधन के कारण उपचुनाव हो रहे हैं।

गौरतलब है कि कैराना लोकसभा सीट के उपचुनाव पर देश के राजनीतिक दलों की निगाहें हैं। क्योंकि 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले हो रहे इस उपचुनाव के नतीजे देश की सियासत को नया संदेश देने वाले हैं। वर्ष 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में कैराना सीट पर भाजपा के हुकुम सिंह जीते थे। हुकुम सिंह को इस चुनाव में कुल 565,909 मत मिले थे जबकि सपा की नाहिद हसन दूसरे नंबर पर रही थीं और उन्हें 32,9081 वोट मिले थे। बसपा के कुंवर हसन तीसरे स्थान पर आए थे और उन्हें 16,0444 वोट मिले थे। (इनपुट आईएएनएस)

प्रादेशिक

मैदान में फुटबॉल प्रैक्टिस करा रहा था कोच, अचानक गिरी बिजली, और फिर….

Published

on

रांची। झारखंड के धनबाद में एक फुटबॉल कोच की आकाशीय बिजली गिरने से मौत हो गई। प्रैक्टिस के दौरान अचानक फुटबॉल कोच पर बिजली गिर गई जिससे वह बेहोश हो गए। आनन-फानन में उन्हें पीएमसीएच ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

एक प्रशिक्षु फुटबॉलर ने बताया कि कोच अभिजीत गांगुली उर्फ सोनू दा प्रैक्टिस करवा रहे थे। इसी बीच तेज आवाज के साथ आसमानी बिजली चमकी और सभी खिलाड़ी जमीन पर लेट गए। थोड़ी देर के लिए पूरे मैदान में अंधेरा छा गया। जब सभी उठे तो देखा कि कोच गिरे पड़े हुए थे, उनका पूरा शरीर झुलसा हुआ था।

संजय ने बताया कि हादसे के बाद हम तुरंत उन्हें उठाकर इलाज के लिए असर्फी अस्पताल पहुंचे, लेकिन उनकी गंभीर हालत को देखते हुए वहां के डॉक्टरों ने उन्हें पीएमसीएच धनबाद रेफर कर दिया।

खिलाड़ियों ने अपने गुरु को पीएमसीएच ले जाने के लिए वहां एंबुलेस खोजी, लेकिन उन्हें एंबुलेंस तो खड़ी मिली लेकिन उसका ड्राइवर नदारद था। इसके बाद अभिजीत दा के शिष्य बिना समय गंवाए उन्हें अपनी स्कूटी से ही पीएमसीएच लेकर पहुंचे, लेकिन वो बच नहीं सके।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending