बैथलॉन में दोनों टैंक खराब होने से भारत की किरकिरी

मॉस्को। रूस में अंतरराष्ट्रीय सैन्य खेल 2017 यानी टैंक बैथलॉन से भारत बाहर हो गया है। भारत के दोनों टैंक तकनीकी दिक्कतों की वजह से रेस को पूरा ही नहीं कर पाए, जिसकी वजह से काफी किरकिरी हुई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, भारत इन खेलों के लिए टी-90 टैंक लेकर शामिल हुआ था।

रूस की राजधानी मॉस्को स्थित अलाबीनो रेंज में चल रहे अंतरराष्ट्रीय टैंक बैथलॉन 2017 में भारतीय टैंकों में तकनीकी खामी आ गई। इस वजह से भारतीय सेना के लिए इस प्रतियोगिता का अंत दुखत रहा। भारत ने इन खेलों के लिए दो टी-90 टैंक, एक प्रमुख और एक रिजर्व में रखा था। हालांकि रेस के दौरान दोनों ही टैंकों में खराबी आ गई, जिसके बाद भारत को अयोग्य घोषित कर बाहर कर दिया गया।

प्रतियोगिता के पहले चरण में भारत, चीन, रूस और कजाकिस्तान समेत 19 देशों की टीमों ने हिस्सा लिया। पहले राउंड में भारतीय टैंकों ने बेहद शानदार प्रदर्शन किया। जिनके प्रदर्शन के आगे चीनी टैंक लडख़ड़ा गया और उसके कई हिस्से अलग-अलग हो गए।

दूसरे राउंड में भारत टी-90 टैंक लेकर शामिल हुआ था। एक प्रमुख टैंक को रिजर्व में रखा गया था, लेकिन रेस के दौरान दोनों टैंक खराब हो गए। इसके बाद भारत इस रेस के फाइनल राउंड से बाहर हो गया।

पहले राउंड में रूस जहां पहले नंबर पर रहा, वहीं भारतीय टीम पहले राउंड में चौथे नंबर पर रही। अंतरराष्ट्रीय सैन्य खेलों में 28 स्पर्धाएं होती हैं। भारत लगातार तीसरे साल इस प्रतियोगिता में शामिल हुआ था।

loading...
=>