Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

अन्तर्राष्ट्रीय

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अब हर रोज कराएंगे कोरोना टेस्ट

Published

on

नई दिल्ली। दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका में हर दिन के साथ कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है। इस वायरस से अमेरिका में अब तक 75 हजार लोगों की जान जा चुकी है।

वहीं इससे संक्रमित लोगों की संख्या का आंकड़ा 12 लाख के पार चला गया है। दुनिया में सबसे ज्यादा संक्रमित अमेरिका में ही हैं। इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के के सैन्य सहयोगी के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद, उन्होंने रोज कोविड-19 टेस्ट कराने का फैसला लिया है।

बता दें, ट्रंप के सैन्य सहयोगी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे। इस कारण ट्रंप प्रशासन में हड़कंप मच गया। हालांकि, अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि वह उनसे ज्यादा संपर्क में नहीं आए थे।

व्हाइट हाउस के ओवल ऑफिस में संवाददाताओं से बातचीत में ट्रंप ने कहा, ‘मैं उनसे बहुत कम संपर्क में आया। मैं जानता हूं कि वह कौन हैं। वह बहुत अच्छे व्यक्ति हैं।

लेकिन मैं उनके बहुत कम संपर्क में आया था। उपराष्ट्रपति माइक पेंस भी उनसे बहुत कम संपर्क में आए थे। लेकिन माइक और मेरी जांच की गई। हम दोनों की जांच की गई।’

एक सवाल का जवाब देते हुए ट्रंप ने कहा, ‘वह, उपराष्ट्रपति और व्हाइट हाउस के अन्य कर्मचारी कोरोना वायरस की हर रोज जांच करवाएंगे।’ उन्होंने कहा, ‘मैंने अभी हाल ही में अपनी जांच करवाई है। वास्तव में, मैं एक कल करवाया था और एक आज और दोनों की रिपोर्ट नेगेटिव आई। माइक ने भी जांच करवाई जो नेगेटिव आई।’

राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा, ‘वे जांच करते हैं और यह आपके मन के भ्रम को दूर करता है। यह वही है जो मैं कह रहा हूं। जांच से हर चीज सामने नहीं आ सकती है। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप क्या करते हैं, परीक्षण सब कुछ नहीं बता सकता। इसलिए हम सप्ताह में एक बार जांच करते हैं। लेकिन अब हम हर दिन एक बार जांच करवाएंगे।’

 

अन्तर्राष्ट्रीय

अमेरिकी विशेषज्ञ की सलाह- भारत में कोरोना की चेन तोड़ने के लिए कुछ सप्ताह का लगे लॉकडाउन

Published

on

नई दिल्ली। अमेरिका के महामारी विशेषज्ञ एंथनी फाउची ने भारत में कोरोना की चेन तोड़ने के लिए कुछ सप्ताह के लॉकडाउन की सलाह दी है। फाउची ने कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए उठाए जा सकने वाले तत्काल कदम के तौर पर भारत को ये सलाह दी है। फाउची ने ये सुझाव ऐसे समय पर दिया है जब भारत में हर रोज कोरोना के रिकॉर्ड मामले सामने आ रहे हैं।

उन्होंने ‘इंडियन एक्सप्रेस’ को दिए इंटरव्यू में कहा कि लॉकडाउन के अलावा ऑक्सीजन, दवाओं और पीपीई किट की उपलब्धता बढ़ाना दूसरी महत्वपूर्ण आवश्यकता है।

उन्होंने कहा कि संकट की भयावहता के मद्देनजर, भारत को एक संकट समूह बनाना चाहिए, जो बैठकें करे और चीजों को संगठित करना शुरू करे। बता दें कि फाउची अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के मुख्य स्वास्थ्य सलाहकार भी हैं।

Continue Reading

Trending