Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

प्रादेशिक

दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, 1 हफ्ते के लिए बढ़ा लॉकडाउन

Published

on

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस की बेकाबू रफ्तार को देखते हुए लॉकडाउन को एक हफ्ते के लिए बढ़ा दिया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस बात की घोषणा की। सीएम के इस ऐलान के बाद अब दिल्ली में 3 मई की सुबह तक लॉकडाउन रहेगा।

बता दें कि दिल्ली में कोरोना संक्रमण की दर 36 फीसदी तक पहुंच गई है। यही वजह है कि सरकार लॉकडाउन की अवधि को एक हफ्ते के लिए बढ़ाया गया।

रविवार को प्रेस कांफ्रेंस के दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में ऑक्सीजन का कोटा 480 से बढ़कर 490 मीट्रिक टन हो गया है। मगर 330-335 टन ही मिल पा रही है। केंद्र और दिल्ली सरकार अस्पताल में ऑक्सीजन पहुंचा रही है।

उन्होंने आगे कहा कि हमने एक पोर्टल शुरू किया है जो ऑक्सीजन की आपूर्ति के बेहतर प्रबंधन के लिए ऑक्सीजन निर्माताओं, आपूर्तिकर्ताओं और अस्पतालों द्वारा हर दो घंटे में अपडेट किया जाएगा। उन्होंने कहा कि केंद्रीय और राज्य की टीमें एकFeatured साथ काम कर रही हैं।

आपको बता दें कि दिल्ली में लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाएं जारी रहेंगी। मेडिकल व्यवस्थाओं की और खाने-पीने की सेवाएं भी जारी रहेंगी। इसी दौरान शादियां भी होंगी वो भी 50 लोगों की अनुमति के साथ। इन सभी लोगों के लिए अलग से पास दिए जाएंगे।

 

प्रादेशिक

शिवसेना के स्थापना दिवस पर बोले उद्धव ठाकरे- हिंदुत्व और मराठा की अस्मिता पार्टी की प्राथमिकता

Published

on

मुंबई। महाराष्ट्र में शिवसेना और कांग्रेस के बीच खींचतान बढ़ती जा रही है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के पार्टी के स्थापना दिवस के मौके पर दिए बयान को सुनकर सियासी हलचल और तेज होती हुई नज़र आ रही है।

महाविकास अघाड़ी गठबंधन में बनी महाराष्ट्र सरकार के बीच अब तकरार देखने को मिल रही है। शनिवार को पार्टी के 55वें स्थापना दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के दिये गये बयान के बाद शिवसेना और कांग्रेस के बीच दरार की खाई और गहरी हो गई है।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने स्थापना दिवस के मौके पर कहा कि हिंदुत्व और मराठा की अस्मिता पार्टी की प्राथमिकता है। उन्होने कांग्रेस का नाम बिना लिए उसपर हमला करते हुए बोला कि जो लोग अकेले चुनाव लड़ने की बात कर रहें हैं, उन्हें जनता चप्पलों से मारेगी। आपको बताते चलें कि नाना पटोले कई बार अकेले चुनाव लड़ने की बात कर चुके हैं।

मुख्यमंत्री के बाद शिवसेना सांसद संजय राउत का बड़ा बयान

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बाद शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि जो लोग अकेले चुनाव लड़ना चाहते हैं, वो लड़ सकते हैं। उन्होने आगे बोलते हुए कहा कि क्या हम चुपचाप बैठकर देखेंगे? शिवसेना ने अपने बल पर राजनीतिक युद्ध लड़ा हैं। उन्होंने आगे कहा कि चुनाव के समय भले ही गठबंधन हो सकता हैं पर चुनाव अपने बल पर ही लड़ा जाता हैं। संजय राउत ने कहाँ कि चाहे ये मुद्दा महाराष्ट्र की शाखा का हो या शिवसेना के आस्तित्व का, अगर हमें लड़ना होगा तो हम लड़ेगे।

Continue Reading

Trending