Connect with us

प्रादेशिक

उत्तर प्रदेश में इस वजह से हुई थी चमगादड़ों की मौत, रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा

Published

on

लखनऊ। पूर्वी उत्तर प्रदेश में कुछ दिन पहले चमगादड़ों की रहस्यमय तरीके से मौत कैसे हुई बात का पता चल गया है। बरेली में भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान (आईवीआरआई) की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में चमगादड़ों की मौत की वजह का खुलासा हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक सभी चमगादड़ों की मौत अत्यधिक गर्मी होने कारण ब्रेन हैमरेज से हुई है।

आईवीआरआई के निदेशक डॉक्टर आर के सिंह ने कहा कि मृत चमगादड़ों में कोरोनावायरस या रैबीज के कोई लक्षण नहीं मिले। उन्होंने कहा, “चमगादड़ों में बहुत प्रतिरक्षा क्षमता होती है, जिसके कारण वायरस या बैक्टीरिया का इनपर कोई प्रभाव नहीं पड़ता। हालांकि चमगादड़ वायरस फैला सकते हैं”

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में 26 मई को एक आम के बाग में 52 चमगादड़ मृत पाए गए थे और एक दिन बाद बलिया जिले में भी बड़ी संख्या में चमगादड़ों की मौत की सूचना मिली। दोनों जिलों में तापमान 44 डिग्री सेल्सियस से अधिक था। बलिया में मरने वाले चमगादड़ों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है।

 

प्रादेशिक

शादी के 9 दिन बाद ही मारा गया अमर दुबे, विकास दुबे का था दाहिना हाथ

Published

on

कानपुर। उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में एसटीएफ के हाथों ढेर हुए विकास दुबे के दाहिने हाथ अमर दुबे की शादी 29 जून को ही हुई थी। बताया गया है कि अमर दुबे की शादी तय हो गई लेकिन उसके आपराधिक इतिहास का पता चलने के बाद लड़की वालों ने इनकार कर दिया था। इसपर विकास दुबे बीच में आ गए थे और लड़की वालों पर शादी का दबाव डाला था। इसके बाद विकास ने लड़की वालों को बिकरू गांव में घर पर ही बुलाकर 29 जून को अमर की शादी कराई थी।

एसटीएफ ने मुठभेड़ में अमर दुबे को किया ढेर

कानपुर गोलीकांड में शामिल विकास दुबे के दाहिने हाथ अमर दुबे को पुलिस ने मुठभेड़ में ढेर कर दिया है। अमर दुबे पर 25 हजार रु का इनाम था। वारदात के पांच दिन के अंदर ही पुलिस ने उसे ढेर करने में सफलता पाई है। अमर दुबे की लाेकेशन मौदहा के आसपास मिली थी। हमीरपुर पुलिस व एसटीएफ की चेकिंग के दौरान अमर दुबे ने पुलिस पर फायरिंग की। जवाबी कार्यवाई में वो ढेर हो गया। अमर दुबे के पास से ऑटोमैटिक गन व कई हथियार मिले है। कहा जा रहा है कि इसके बाद विकास दुबे कमजोर पड़ गया है और वह किसी भी समय हरियाणा या दिल्ली की कोर्ट में सरेंडर कर सकता है।

पुलिस को अमर के उस इलाके में छिपे होने का संदेह पहले से था क्योंकि उसकी कार औरैया के पास लावारिस मिली थी। पुलिस को अनुमान था कि विकास, अमर के साथ औरैया के चंबल के रास्ते मध्य प्रदेश भागा होगा या बीच में ही कहीं छिपा होगा। पुलिस उस इलाके में सख्त चौकसी कर रही थी। अमर के बुंदेलखंड में होने की सूचना पुलिस को लगी। जिस पर पुलिस ने वहां अमर की घेराबंदी कर ली। इसके बाद यूपी पुलिस व एसटीएफ की संयुक्त कार्यवाई में वो ढेर हो गया।

#vikasdubey #amardubey #marriage #uppolice

Continue Reading

Trending