Connect with us

प्रादेशिक

बीजेपी नेता को जान से मारने की धमकी देने वाला शख्स हुआ गिरफ्तार

Published

on

नई दिल्ली। भाजपा नेता और पूर्व सांसद विनय कटियार को जान से मारने की धमकी देने वाले शख्स को उप्र पुलिस ने बरेली जिले के नवाबगंज इलाके से गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार शख्स का नाम मकसूद है।

विनय कटियार के सुरक्षा प्रभारी उप्र पुलिस के इंस्पेक्टर श्योराज सिंह ने 12 दिसंबर को नई दिल्ली जिले के नार्थ एवेन्यू थाने में इस बाबत लिखित शिकायत दर्ज कराई थी।

शिकायत में कहा गया था, “11 दिसंबर को आधी रात के वक्त पूर्व सांसद विनय कटियार जब दिल्ली में सरकारी बंगले में थे, उसी वक्त उनके निजी मोबाइल पर अनजान नंबर से कॉल आई।”

दिल्ली पुलिस को मिली शिकायत के मुताबिक, “अनजान शख्स ने पूर्व सांसद के साथ अभद्र भाषा का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया। विनय कटियार ने जब अनजान शख्स से उसकी पहचान पूछी तो वह बोला कि ‘जंतर मंतर से बोल रहा हूं।

तेरे अब बहुत कम दिन बचे हैं। मार डालूंगा’।” मामला चूंकि भाजपा के एक कद्दावर नेता को जान से मारने की धमकी से जुड़ा था, लिहाजा आधी रात को ही दिल्ली पुलिस के तमाम आला अफसरान घटनास्थल पर पहुंच गए।

नई दिल्ली जिले के डीसीपी डॉ. ईश सिंघल ने शनिवार को आईएएनएस से आरोपी की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। डीसीपी ने आईएएनएस से कहा, “बरेली पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है। ज्यादा जानकारी जुटाने के प्रयास किए जा रहे हैं। गिरफ्तार किए गए शख्स की तलाश शायद यूपी पुलिस को किसी अन्य मामले में भी थी।”

नेशनल

बडगाम में आतंकियों ने भाजपा नेता को उतारा मौत के घाट

Published

on

जम्मू| जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने भाजपा नेता की गोली माकर हत्या कर दी। मृतक अब्दुल हमीद नाजर बडगाम जिले के ओमपोरा इलाके में भारतीय जनता पार्टी के अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) मोर्चा के जिलाध्यक्ष थे। अब्दुल हमीद नजर को आतंकवादियों ने रविवार की सुबह उनके घर के पास गोली मार दी थी। वह सुबह की सैर के लिए घर से निकले थे।

गोलियां लगने से गंभीर रूप से घायल हुए नजर को अस्पताल ले जाया गया जहां सोमवार सुबह उसकी मौत हो गई। इस घटना को लेकर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और जांच शुरू कर दी है।

आतंकी विशेष रूप से भाजपा नेताओं को निशाना बना रहे हैं। जून माह से अब तक चार भाजपा नेताओं पर हमले हो चुके हैं। 11 जुलाई को बांदीपोरा के पूर्व जिला अध्यक्ष वसीम बारी की उनके पिता और भाई समेत हत्या कर दी गई थी। इसके बाद 15 जुलाई को सोपोर में भाजपा नेता मेहराजुद्दीन मल्ला को अगवा किया गया था, हालांकि इन्हें दस घंटे में ही मुक्त करा लिया गया था। इसके बाद चार अगस्त को कुलगाम में पंच पीर आरिफ अहमद शाह को गोली मार दी गई थी,छह अगस्त को सज्जाद खांडे की हत्या कर दी गई।

Continue Reading

Trending