Connect with us

नेशनल

उन्नाव में गैंगरेप पीड़िता को पेट्रोल डालकर जलाया, हालत गंभीर

Published

on

उन्नाव के बिहार थाना क्षेत्र के एक गांव में रहने वाली सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता को गुरुवार सुबह छह युवकों ने पेट्रोल डालकर जला दिया। पिता की सूचना पर पहुंची पुलिस ने पीड़िता को जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां पीड़िता की हालत गंभीर देख कानपुर हैलट रेफर कर दिया गया। कानपुर के बाद अब पीड़िता को लखनऊ रेफर कर दिया गया है।

पीड़िता ने बयान दिया है कि गुरुवार सुबह चार बजे वह रायबरेली जाने के लिए ट्रेन पकड़ने बैसवारा बिहार रेलवे स्टेशन जा रही थी। गौरा मोड़ पर गांव के हरिशंकर त्रिवेदी, किशोर शुभम, शिवम, उमेश ने घेर लिया और सिर पर डंडे से और गले पर चाकू से वार किया। वह चक्कर आने से गिरी तो पेट्रोल डालकर आग लगा दी। शोर मचाने पर भीड़ को आता देख वह भाग निकले।

पीड़िता ने बताया कि पूर्व में आरोपियों ने उसके साथ दुष्कर्म किया था। उधर, घटना की जानकारी मिलने पर डीएम देवेंद्र पांडे, एसपी विक्रांत वीर समेत कई थानों की पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची। पीड़िता की हालत गंभीर देख कानपुर हैलट रेफर कर दिया गया। इसके बाद उसे लखनऊ सीविल हॉस्पिटल भेजा गया है।

बताया जा रहा है कि हमलावरों में से तीन युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। उधर, घटना के बाद पूरे जिले में हड़कंप मचा गया है।

नेशनल

चैनल पर डिबेट के दौरान बार-बार सीने पर हाथ रख रहे थे राजीव त्यागी, पत्नी को हो गया था शक

Published

on

नई दिल्ली। कांग्रेस के तेजतर्रार प्रवक्ता राजीव त्यागी का बुधवार को अचानक दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। बुधवार को ही शाम पांच बजे वो अपने घर से ही आजतक के कार्यक्रम में एक डिबेट में शामिल हुए थे। जानकारी के मुताबिक, जिस वक्त राजीव डिबेट में होते थे, उस वक्त उनके कमरे में कोई भी नहीं जाता था।

बुधवार को जब वह डिबेट में चर्चा कर रहे थे, उसी वक्त पड़ोस के कमरे में उनकी पत्नी संगीता और बेटा धनंजय भी टीवी पर उन्हें देख रहे थे। टीवी पर उन्हें बार-बार पानी पीते और सीने पर हाथ लगाते देख उन्हें कुछ शक हुआ। इसके बाद डिबेट खत्म होने के चंद सेकंड बाद ही जब वो राजीव के कमरे में गईं तो उन्होंने कहा कि मुझे कुछ असहज महसूस हो रहा है। इसके बाद वो कुर्सी से जमीन पर गिर पड़े। उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

डॉक्टर ने कहा कि ‘उन्हें शाम को करीब साढ़े छह बजे हॉस्पिटल लाया गया। उनका ब्लड प्रेशर और पल्स नहीं था। हमनें उन्हें तुरंत सीपीआर दिया। वेंटिलेटर पर रखा गया। 45 मिनट तक उन्हें सीपीआर दिया गया। मगर उन्हें बचाया नहीं जा सका। राजीव त्यागी के अचेत होने के बाद उन्हें यशोदा हॉस्पिटल में ही भर्ती कराया गया था।

#rajivtyagi #aajtak #debate #death

Continue Reading

Trending