Connect with us

नेशनल

एम्स में अरुण जेटली का हाल जानने के लिए नेताओं का लगा तांता

Published

on

नई दिल्ली। पूर्व वित्त मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली की सेहत का हाल जानने के लिए नेताओं का तांता लगा हुआ है।

दिल्ली के एम्स अस्पताल में केंद्रीय मंत्रियों के अलावा विपक्षी नेता भी अरुण जेटली से मिलने पहुंच रहे हैं। शनिवार को जेटली से मिलने केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल पहुंचे तो वही बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और मायावती ने एम्स पहुंचकर उनका हाल जाना। आपको बता दें कि अरुण जेटली हालत नाजुक बनी हुई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह दोबारा अरुण जेटली से मिलने एम्स जा सकते हैं। अमित शाह शुक्रवार देर रात पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का हालचाल जानने एम्स पहुंचे थे।

इससे पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन अरुण जेटली को देखने एम्स पहुंचे थे। उनसे पहले केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह आज सुबह जेटली का हालचाल लेने एम्स गए।

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली काफी समय से बीमार हैं और 9 अगस्त को उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया था। अमित शाह बीती रात 12 बजे के करीब जेटली का हालचाल जानने एम्स पहुंचे थे।

नेशनल

कोरोना से हो सकती है 20 लाख लोगों की मौत, डब्लूएचओ की चेतावनी से सहमे लोग

Published

on

नई दिल्ली। डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि कोरोना वैक्सीन के व्यापक प्रयोग से पहले दुनियाभर में इस महामारी से 20 लाख लोगों की मौत हो सकती है। डब्ल्यूएचओ के आपातकालीन स्वास्थ्य कार्यक्रम के प्रमुख माइक रेयान ने कहा कि जब तक हम प्रयास करेंगे 20 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी होगी। कोरोना वायरस से सामने आने के नौ महीनों में ही करीब 10 लाख लोगों की मौत हो गई है।

माइक रेयान ने कहा कि कोरोना वायरस फैलाने के लिए युवाओं को जिम्मेदार नहीं ठहराया जाना चाहिए। चीन के नेशनल हेल्थ मिशन के अधिकारी झेंग झोंगवेई ने कहा कि चीन ने डब्ल्यूएचओ से कोरोना की प्रायोगिक वैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल के लिए जून में ही मंजूरी ले ली थी। उस समय तक वैक्सीन का क्लीनिकल ट्रायल भी पूरा नहीं हुआ था।

इससे पहले डब्‍ल्‍यूएचओ ने कहा था कि इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि कोई वैक्‍सीन वायरस के खिलाफ पूरी तरह कारगर होगी।

Continue Reading

Trending