Connect with us

प्रादेशिक

दहेज मांगने ससुराल पहुंच गया शख्स, ससुर ने की जमकर खातिरदारी

Published

on

पटना। बिहार के मुजफ्फरपुर में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे जानकर दहेज मांगने वाले लोग कांप जाएंगे। दरअसल, एक शख्स जब सुमेरा गांव में अपने ससुरालवालों से दहेज मांगने पहुंचा तो ससुर ने उसे पेड़ से बांधकर उसकी जमकर पिटाई कर दी।

लड़की के पिता अवधेश कुमार पर आरोप है कि उन्होंने गांववालों के साथ मिलकर अपने दामाद की पिटाई की है। इस पूरे मामले पर अवधेश कुमार ने कहा, ‘दामाद हमेशा बेटी के साथ दहेज लाने के नाम पर मारपीट करता था। पंचायत में कई बार इस मुद्दे को उठाने के बाद भी दामाद अपनी आदतों से बाज नहीं आ रहा था।’ इसके बाद अवधेश की बेटी अपने पिता के पास आई और पति से तलाक लेने के लिए कोर्ट में अर्जी दे दी।

अवधेश कुमार के अनुसार उनकी बेटी की शादी साल 2011 में वैशाली के रहने वाले नटवरलाल से हुई थी। शादी के बाद चार सालों तक सब ठीक रहा लेकिन उसके बाद दामाद दहेज की मांग करते हुए बेटी को प्रताड़ित करने लगा। दामाद को कई बार समझाया भी लेकिन उस पर इसका कोई असर नहीं हुआ। अवधेश ने कहा कि सोमवार की रात अचानक दामाद घर आया और सभी से मारपीट करने लगा।

अवधेश की बेटी ने भी अपने पति पर मारपीट करने और जबरदस्ती दहेज मांगने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा,  ‘पति दहेज की मांग के साथ ही अक्सर उसके साथ मारपीट भी करता था।’

वहीं नटवरलाल ने ससुराल पक्ष के दावों को खारिज करते हुए अपनी पत्नी पर किसी दूसरे शख्स से फोन पर बातचीत करने का आरोप लगाया। जब उससे पूछा गया कि तलाक का केस चल रहा है तो वह ससुराल क्यों आया तब उसने कहा कि वो समझौता करने के लिए गया था लेकिन ससुर समेत परिवार के अन्य लोगों ने उसे पीटना शुरू कर दिया।

प्रादेशिक

सीएम योगी बोले, कोरोना की रोकथाम के लिए लखनऊ, कानपुर व मेरठ के लिए विशेष रणनीति बनाएं अधिकारी

Published

on

लखनऊ। यूपी में कोरोना के मामलों को देखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को अपने सरकारी आवास पर एक उच्चस्तरीय बैठक करते हुए अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा की। उन्होंने लखनऊ , कानपुर नगर और मेरठ में कोविड-19 के सम्बन्ध में विशेष रणनीति बनाकर कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने कहा कि टेस्टिंग और सर्विलांस जितना सुदृढ़ होगा, कोरोना के प्रसार को रोकने में उतनी ही अधिक सफलता मिलेगी। योगी ने मुख्य सचिव को निर्देश दिए कि माइक्रो कन्टेनमेन्ट जोन, टेस्टिंग और सर्विलांस के सम्बन्ध में निरन्तर फीडबैक लेते हुए उचित कार्रवाई करें। कोविड की रोकथाम के लिए लखनऊ , कानपुर नगर व मेरठ के लिए विशेष रणनीति बनाई जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दर को नियंत्रित करने में सफलता मिली है। पिछले एक सप्ताह में सक्रिय कोरोना के मामलों की संख्या में काफी कमी आई है, यह एक अच्छा संकेत है और ये दर्शाता है कि राज्य सरकार की कोविड-19 के प्रति अपनाई गई रणनीति कारगर रही है। कोविड-19 नियंत्रण सम्बन्धी कार्य सक्रियता के साथ निरन्तर जारी रखें जाएं। उन्होंने फोकस्ड टेस्टिंग किए जाने पर बल देते हुए कहा कि कोविड बेड्स की संख्या में बढ़ोतरी सुनिश्चित की जाए।

Continue Reading

Trending