Connect with us

खेल-कूद

वर्ल्ड कप में टीम इंडिया का पहला मैच आज, लगातार दो मैच हार चुकी दक्षिण अफ्रीका से है मुकाबला

Published

on

साउथम्प्टन। भारतीय क्रिकेट टीम यहां आईसीसी विश्व कप-2019 के अपने पहले मैच में आज दक्षिण अफ्रीका का सामना करेगी। भारत का यह पहला मैच है लेकिन दक्षिण अफ्रीका दो मैच खेल चुकी है। पहले मैच में मेजबान इंग्लैंड ने उसे मात दी थी तो वहीं दूसरे मैच में बांग्लादेश ने उसे पटका था। दक्षिण अफ्रीका के विश्व कप इतिहास को देखते हुए उसे चोकर्स कहा जाता है, और अभी तक इस विश्व कप में अनचाहे में ही सही दक्षिण अफ्रीका इस तमगे से पीछा छुड़ाती नहीं दिख रही है।

इंग्लैंड के खिलाफ हार समझ में आती है लेकिन बांग्लादेश के सामने नतमस्तक होना उसकी ख्याति के खिलाफ ही गया है। उसकी परेशानियां कम भी नहीं हो रही हैं। टूनार्मेंट की शुरुआत में ही उसके मुख्य तेज गेंदबाज डेल स्टेन चोटिल हो गए थे और अब लुंगी नगिदी 10 दिन के लिए बाहर हो गए हैं। उन्हें द ओवल में खेले गए मैच में मांसपेशियों में खिंचाव की शिकायत हो गई थी। वहीं भारत के लिहाज से देखा जाए तो उसके लिए यह अच्छी खबर है। न्यूजीलैंड के खिलाफ अभ्यास मैच में स्विंग के सामने भारतीय बल्लेबाज बिखर गए थे। ऐसे में दक्षिण अफ्रीका के दो मुख्य गेंदबाजों का न होना निश्चित ही भारतीय बल्लेबाजों के लिए राहत की बात होगी। अब उनके सामने कगिसो रबादा की चुनौती अहम होगी।

भारतीय बल्लेबाजी की लय शीर्ष-3 के प्रदर्शन पर काफी निर्भर करती है। इन तीन में से अगर एक भी अंत तक खड़े हो जाता है तो भारत का स्कोर अच्छा होता है। बीते दो साल में यही देखा गया है, लेकिन अगर शुरू के तीनों बल्लेबाज विफल हो जाते हैं तो भारतीय टीम के लिए उबरना मुश्किल होता दिखा है।ऐसे में रोहित शर्मा-शिखर धवन की सलामी जोड़ी पर अच्छी शुरूआत का दारोमदार है तो वहीं विराट कोहली पर टीम को संभालने की जिम्मेदारी।

विश्व कप जाने से पहले नंबर-4 को लेकर काफी चर्चा रही थी। बांग्लादेश के खिलाफ अभ्यास मैच में लोकेश राहुल चौथे नंबर पर खेले थे और शतक जमाया था। ऐसे में माना जा रहा है कि कोहली अपने पसंदीदा राहुल को कम से कम पहले मैच में तो नंबर-4 पर खेलाएंगे। अन्यथा केदार जाधव भी इस स्थान के लिए विकल्प हैं। राहुल अगर चार नंबर पर आते है तो जाधव पांच और फिर महेंद्र सिंह धोनी छह नंबर पर आ सकते हैं।

गेंदबाजी में कोहली किन दो तेज गेंदबाजों के साथ उतरते हैं यह देखना होगा। काफी हद तक संभावना है कि जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर की कुमार की जोड़ी मैदान पर होगी लेकिन मोहम्मद शमी की फॉर्म को देखते हुए कोहली, कुमार की जगह उन्हें मौका दे सकते हैं। बुमराह का खेलना तय है। तीसरे तेज गेंदबाज के रूप में भारत के पास हादिर्ंक पांड्या का विकल्प है। आतिशी बल्लेबाजी के कारण पांड्या टीम के लिए काफी उपयोगी साबित हो सकते हैं।

वहीं देखना यह भी दिलचस्प होगा कि कोहली और मुख्य कोच रवि शास्त्री लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल और चाइनामैन कुलदीप यादव की जोड़ी के साथ ही जाते हैं या अनुभवी हरफनमौला खिलाड़ी रवींद्र जडेजा को मौका देते हैं। दक्षिण अफ्रीका की गेंदबाजी को लेकर चिंता नई है लेकिन उसकी पुरानी चिंता उसकी बल्लेबाजी है। टीम की बल्लेबाजी कमजोर है और क्विंटन डी कॉक तथा कप्तान फाफ डु प्लेसिस के अलावा कोई और बल्लेबाज बड़ी पारी खेलने की स्थिति में दिखता नहीं है। अनुभवी ज्यां पॉल ड्यूमिनी और डेविड मिलर शुरुआत तो अच्छी करते हैं लेकिन उसे अंजाम तक नहीं पहुंचा पाते। हाशिम अमला खराब फॉर्म से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं।

खेल-कूद

INDvNZ 1ST TEST : नहीं मिल पा रहा टीम को ओपनर, भारत की मुश्किलें बढीं 

Published

on

न्यूजीलैंड के दौरे पर गई भारतीय टीम 21 फरवरी से टेस्ट मैच खेलेगी। इससे पहले 14 फरवरी से न्यूजीलैंड इलेवन और भारत के बीच 03 दिनों का एक अभ्यास मैच खेला जाएगा। वनडे सीरीज में क्लीप स्वीप के बाद भारतीय टीम इस मैच से अच्छा प्रदर्शन करना चाहेगी।

रोहित शर्मा और शिखर अपनी चोट की वजह से टीम से बाहर चल रहे हैं। ऐसे में टेस्ट में मयंक अग्रवाल के साथ कौन पारी की शुरुआत करेगा, यह बड़ा सवाल है। टीम के पास पृथ्वी शॉ और शुभमन गिल का विकल्प है। गिल ने भारत के लिए अभी तक टेस्ट मैच नहीं खेला है, लेकिन दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज से ही वो टीम का हिस्सा बने हुए हैं।

न्यूजीलैंड ए के खिलाफ अनाधिकारिक टेस्ट मैच की 3 पारियों में उन्होंने एक अर्धशतक, एक शतक और एक दोहरा शतक लगाया था। पृथ्वी शॉ की करीब एक साल बाद टेस्ट टीम में वापसी हुई है। उन्होंने भारत के लिए 2018 में 2 टेस्ट मैच खेले थे। इसमें उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया था। ऐसे में वो भी मयंक के साथ पारी की शुरूआत कर सकते हैं।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending