Connect with us

प्रादेशिक

अमेठी: सुरेंद्र सिंह की अर्थी को कंधा देते वक़्त स्मृति ईरानी हुई भावुक, देखे video

Published

on

उत्तर प्रदेश में अमेठी की नव निर्वाचित सांसद स्मृति ईरानी केबेहद करीबी माने जाने वाले पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की बीती रात कुछ अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस सूत्रों ने रविवार को बताया कि हथियारबंद बदमाशों ने शनिवार देर उनके घर में घुस कर गोली मारी। गंभीर हालत में पूर्व प्रधान काे लखनऊ के ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया जहां डाक्टरों ने उन्हे मृत घोषित कर दिया।

स्मृति ईरानी पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की अंतिम यात्रा में पहुंची जहां उन्होंने भारी मन से सुरेंद्र सिंह की अर्थी को कंधा दिया। शव को अंतिम विदाई देने के लिए सुरेंद्र सिंह के गांव में लोगों की भीड़ उमड़ गई है।

आपको बता दें, सुरेंद्र स्मृति ईरानी के करीबी माने जाते थे। उन्होंने स्मृति की जीत में बड़ी भूमिका निभाई थी। वही सुरेंद्र के बेटे ने इस मामले में कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर शक जताया है।अमेठी में स्मृति ईरानी के करीबी की हत्या से सियासत गरमा गई है। इस हत्याकांड से कांग्रेस सवालों के घेरे में आ गई है। वही इस मामले में डीजीपी ओपी सिंह ने कहा, ‘हमें घटना के अहम सुराग मिले हैं। 7 लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है।

प्रादेशिक

यूपी में दारोगा के 5 हजार पदों पर बंपर भर्तियां, इस दिन जारी होगा नोटिफिकेशन

Published

on

लखनऊ। सरकार नौकरी का सपना संजोए युवाओं के लिए खुशखबरी है। उत्तर प्रदेश में दारोगा के 5 हजार से अधिक पदों के लिए अगले महीने से भर्ती प्रक्रिया शुरू होने जा रही है।

दारोगा के इन पदों के लिए पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड सितंबर के अंत में विज्ञापन निकालेगा जबकि नवंबर के अंत में या दिसंबर की शुरुआत में लिखित परीक्षा कराए जाने की संभावा है वहीं फरवरी 2020 में दौड़ कराने पर विचार किया जाएगा।

भर्ती बोर्ड के अध्यक्ष राजकुमार विश्वकर्मा ने बताया कि भर्ती परीक्षा के लिए एजेंसी का चयन किया जा रहा है। टेंडर आमंत्रित किए गए हैं। एक माह में एजेंसी का चयन हो जाएगा।

आपको बता दें कि अनुसूचित जनजाति के अभ्यर्थियों के लिए पहली बार सोनभद्र में अलग से परीक्षा केंद्र बनाया जाएगा। लिखित परीक्षा पास करने वाले आदिवासी अभ्यर्थियों की दौड़ भी यहीं कराई जाएगी, ताकि वे अधिक से अधिक संख्या में भर्ती में शामिल हो सकें।

पिछली भर्ती में अनुसूचित जनजाति से एक भी योग्य अभ्यर्थी नहीं मिला था। गौरतलब है कि सर्वाधिक आदिवासी इसी जिले में हैं।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending