Connect with us

नेशनल

Live: हंदवाड़ा में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी, 5 सुरक्षाकर्मियों की मौत

Published

on

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में पिछले तीन दिनों से पुलिसकर्मियों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ जारी है। एएनआई के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर के हंदवाड़ा के बाबागुंड में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच शुक्रवार से एनकाउंटर चल रहा है। इस एनकाउंटर के तीसरे दिन सुरक्षाबलों के पांच जवान शहीद हो गए हैं।

बता दें, शुक्रवार को उत्तर कश्मीर के बाबागुंड में सुरक्षाबलों ने एक तलाशी अभियान शुरू किया था। सुरक्षाबलों को वहां पर आतंकियों के छुपे होने की खबर मिली थी। जिसके बाद आतंकियों को वहां से खदेड़ने के लिए सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके में घेराबंदी कर दी थी।

शुक्रवार सुबह से ही सुरक्षाबलों की आतंकवादियों से मुठभेड़ शुरू हो गई। आतंकवादियों की अंधाधुंध गोलीबारी से नौ सुरक्षाकर्मियों के घायल होने की खबर आयी थी। बाद में पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि मुठभेड़ में चार सुरक्षाकर्मियों की मौत हो गई। उनमें दो पुलिसकर्मी और दो सीआरपीएफकर्मी थे। हालांकि, रक्षा अधिकारियों ने शुक्रवार को कहा कि इस अभियान में थल सेना के दो जवान भी शहीद हुए हैं।

नौजवानों के एक समूह और कानून प्रवर्तन एजेंसियों के बीच शुक्रवार को मुठभेड़ स्थल के पास झड़प हुई जिनमें कई प्रदर्शनकारी घायल हो गए। वसीम अहमद मीर नाम के एक युवक को गंभीर चोटें आई थी। उसे एक अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक़ सुरक्षा कर्मियों ने हंदवाड़ा में दो मकान और दो गौशाले भी नष्ट कर दिए हैं क्योंकि वहाँ पर आतंकियों के छिपे होने की आशंका थी।

 रिपोर्ट-मानसी शुक्ला

 

अन्तर्राष्ट्रीय

कांपते हुए कुरैशी ने कहा था- 9 बजे भारत हम पर हमला कर देगा, डर के मारे पाकिस्तान ने अभिनंदन को किया था रिहा

Published

on

नई दिल्ली। बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद भारत में घुसने की कोशिश कर रहे पाकिस्तानी एफ 16 को भारतीय पायलट अभिनंदन ने अपने मिग विमान से मार गिराया था। हालांकि इस कार्रवाई में अभिनंदन का विमान पाकिस्तानी सीमा में क्रैश कर गया था जिसके बाद पाकिस्तान ने भारतीय पायलट को बंदी बना लिया था। हालांकि भारत सरकार के दबाव में पाकिस्तान को उन्हें कुछ ही घंटों के अंदर भारत वापस भेजना पड़ा।

अभिनंदन को भारत वापस भेजने के पीछे पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने इलाके में शांति की दुहाई दी थी, जो पूरी दुनिया के किसी भी शांति प्रिय देश को रास नहीं आई थी। अब पाकिस्तान के एक बड़े नेता सरदार अयाज सादिक ने जो खुलासा किया है उसने दुनिया को बता दिया है कि भारत जैसे शक्तिशाली देश के आगे पाकिस्तान क्या औकात रखता है।

उन्होंने पाकिस्तानी संसद में बताया कि अभिनंदन को भारत को सौंपने से पहले पाकिस्तानी सरकार में हड़कंप मचा हुआ था। अभिनंदन को छोड़ जाने से पहले एक मीटिंग में पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के पैर कांप रहे थे। उन्होंने कहा, “मझे याद है शाह महमूद कुरैशी साहब उस मीटिंग में थे जिसमें आने से वजीर-ए-आलम ने इंकार कर दिया, चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ तशरीफ लाए। पैर कांप रहे थे, पसीने माथे पर थे और हमसे शाह महमूद साहब ने कहा, फॉरेन मिनिस्टर साहब ने, कि खुदा का वास्ता अब इसको वापस जाने दें, क्योंकि 9 बजे रात को हिंदुस्तान पाकिस्तान पर अटैक कर रहा है।”

पाकिस्तानी नेता के इस खुलासे के बाद पाकिस्तान में हड़कंप मच गया है। सोशल मीडिया पर पाकिस्तानी लोग जमकर चर्चा कर रहे हैं। आपको बता दें कि बालाकोट स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने अपने एयर स्पेस में विमानों की मूवमेंट को पूरी तरह से रोक दिया था, जानकारों ने कहना है कि इसके पीछे भी इमरान सरकार को भारतीय वायुसेना के हवाई हमले का डर था।

Continue Reading

Trending