Connect with us

अन्तर्राष्ट्रीय

इमरान खान ने कहा- भारत का पायलट हमारे कब्जे में, हमने दिखा दिया अपना दम

Published

on

इमरान खान

कल यानी की 26 फरवरी से जो माहौल बना हुआ है उस पर बुधवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने फ्रेंस कॉन्फ्रेंस की। इसमें उन्होंने कहा भारत के पायलट हमारे कब्जे में हैं। युद्ध किसी चीज का हल नहीं होता हल बात से हल निकाल सकते हैं।

उन्होंने बताया कि मंगलवर कि सबह भारत ने पाकिस्तान में घुस कर हमला किया। उसी के लिए हम सिर्फ अपनी ताकत दिखाने के लिए आज एक्शन लिया। हम बस अपनी ताकत दिखाना चाहते थे जिससे पता चले कि अगर आप हमारे देश में घुस सकते हैं तो हम भी।

इतना ही नहीं पाकिस्तान ने पकड़े गए पायलट की तस्वी भी सांझा की है। पायलट का नाम अभिनंदन जिन्होंने विंग कमांडर से उड़ान भरी थी।

अन्तर्राष्ट्रीय

विदेश जाकर इलाज करा सकेंगे नवाज शरीफ, लाहौर हाई कोर्ट ने दी इजाजत

Published

on

नई दिल्ली। लंबे समय से बीमार पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ अब विदेश जाकर इलाज करा सकेंगे। लाहौर हाई कोर्ट ने उन्हें उपचार के लिए चार सप्ताह के लिए विदेश यात्रा की अनुमति दे दी है और कहा कि यह अवधि चिकित्सा रिपोटरें के आधार पर बढ़ाई जा सकती है।

डॉन न्यूज के अनुसार, मौजूदा सरकार को झटका देते हुए जिसने शरीफ की यात्रा के लिए क्षतिपूर्ति बांड भरने की शर्त रखी थी, शनिवार को अदालत ने उनका नाम एग्जिट कंट्रोल लिस्ट (ईसीएल) से हटाने का आदेश दिया।

दो न्यायाधीशों की पीठ ने सुबह 11 बजे याचिका पर सुनवाई शुरू की और आखिरकार शाम 6 बजे के करीब फैसला सुनाया।अदालत के आदेश में कहा गया, “शरीफ को चार सप्ताह के लिए अंतरिम व्यवस्था के रूप में विदेश यात्रा करने की एक बार की अनुमति दी गई है और डॉक्टरों द्वारा यह प्रमाणित करने पर उनके स्वास्थ्य में सुधार हुआ है और वह पाकिस्तान आने के लिए फिट हैं, वह लौट आएंगे।”

पीएमएल-एन के अध्यक्ष शहबाज शरीफ ने इस फैसले को स्वीकार किया और एक वचन पत्र पर हस्ताक्षर किए जिसमें कहा गया कि वह चार सप्ताह के भीतर या डॉक्टरों द्वारा शरीफ का स्वास्थ्य ठीक होना और उनके पाकिस्तान लौटने के लिए फिट होना प्रमाणित किए जाने पर अपने भाई की वापसी सुनिश्चित करेंगे।

शहबाज शरीफ ने कहा कि एक एयर एम्बुलेंस नवाज शरीफ को ले जाएगी। नवाज के सोमवार को लंदन जाने की संभावना है।

फैसले पर जवाब देते हुए, सत्तारूढ़ पीटीआई के सीनेटर फैसल जावेद ने कहा कि यह फैसला किया जाएगा कि लिखित आदेश उपलब्ध होने के बाद अदालत के फैसले पर अपील किया जाए या नहीं।

सूचना मामलों में प्रधानमंत्री की विशेष सहायक फिरदौस आशिक एवान ने जियो न्यूज से कहा कि सरकार ने हमेशा अदालती फैसलों का सम्मान किया है। हालांकि, उन्होंने जावेद के इस रुख को दोहराया कि अपील पर फैसला लेना बाकी है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending