Connect with us

नेशनल

पुलवामा हमले पर कमल हासन ने दिया विवादित बयान, PoK को बताया आजाद कश्मीर!

Published

on

नई दिल्ली। अपने बयानों से हमेशा सुर्खियां बटोरने वाले कमल हसन अपने ताजा बयान से विवादों में घिर गए हैं। जहां एक ओर पुलवामा में हुए आतंकी हमले को लेकर पूरे देश में गुस्सा है वहीं चेन्नई में मक्कल नीधि मैयम के प्रमुख कमल हासन ने एक कार्यक्रम के दौरान कश्मीर में जनमत संग्रह की मांग कर दी।

कमल यहीं नहीं रुके उन्होंने पाक अधिकृत कश्मीर को आजाद कश्मीर तक बता दिया। उन्होंने कहा, ‘जवान क्यों मरते हैं? हमारे घर के चौकीदार को क्यों मरना चाहिए? यदि दोनों तरफ के राजनेता (भारत और पाकिस्तान) ठीक तरह से व्यवहार करें तो किसी सैनिक को मरने की जरुरत नहीं है। नियंत्रण रेखा नियंत्रण में रहेगी।’

हासन ने आगे कहा, ‘भारत कश्मीर में जनमत संग्रह क्यों नहीं करा रहा है? वह (भारतीय सरकार) किससे डरती है?’ कई संगठन इस मांग को उठाते रहते हैं कि कश्मीरियों को भारत के साथ रहना है या फिर पाकिस्तान के साथ इसे लेकर जनमत संग्रह करवाया जाना चाहिए। हासन ने कहा, ‘यदि भारत खुद को बेहतर देश के रूप में साबित करना चाहता है तो उसे इस तरह का रवैया नहीं अपनाना चाहिए।’

सेना के प्रति अपने विचार रखते हुए उन्होंने कहा, मुझे उस समय बहुत दुख होता है जब लोग कहते हैं कि जवान कश्मीर मरने के लिए जा रहे हैं। सेना भी एक पुराने फैशन की तरह है। एक अंग्रेजी चैनल के अनुसार अपने बयान के दौरान उन्होंने पाक अधिकृत कश्मीर को आजाद कश्नमीर कहा है।

नेशनल

राज्य सभा सचिवालय के अधिकारी पाए गए कोरोना संक्रमित, ऑफिस सील

Published

on

नई दिल्ली। कोरोना वायरस देश में तेजी से अपने पांव पसार रहा है। भारत में अब यह वायरस हर रोज लगभग 7 हजार लोगों को अपना शिकार बना रहा है।

इस खतरनाक बीमारी से सबसे ज्यादा प्रभावित महाराष्ट्र, तमिलनाडु और दिल्ली हैं। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में तो अब हर दिन हजार से ज्यादा कोरोना के नए केस सामने आ रहे हैं।

अब इस वायरस ने संसद परिसर में भी दस्तक दे दी है। राज्यसभा सचिवालय में डायरेक्टर लेवल पर कार्यरत एक अधिकारी की कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव मिलने के बाद संसद भवन स्थित उनके द़फ्तर को सील कर दिया है। बताया जा रहा है कि अधिकारी की पत्नी और बच्चे भी कोरोना की चपेट में आ गए हैं।

उनका द़फ्तर संसद भवन एनेक्सी के पहले तल पर रूम नंबर 120 में है। अधिकारी 28 मई को ऑफिस आए थे। पार्लियामेंट सिक्योरिटी सर्विस ने उनके द़फ्तर को सेनिटाइज कर सील कर दिया।

पहले तल के सभी गेट, वॉशरूम आदि को सेनेटाइज किया गया है। राज्यसभा सचिवालय ने उन सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को सजग रहने के लिए कहा है, जो अधिकारी के संपर्क में आ चुके हैं। संपर्क में आने वाले लोग अब एहतियातन कोविड-19 टेस्टिंग कराने की तैयारी में हैं।

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending