Connect with us

प्रादेशिक

छत्तीसगढ़ में सरकार बनते ही कांग्रेस पहले दिन ही करेगी ये बड़ा काम, जानकर आपको भी नहीं होगा यकीन!

Published

on

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ विधानसभा में अब बहुत ही कम समय बचा है ऐसे में तमाम राजनीतिक दल वोटर्स को रिझाने की पुरजोर कोशिश कर रहे हैं। हाल ही में कांग्रेस के नेता प्रतिपक्ष व सरगुजा से विधायक टी.एस. सिंहदेव ने बड़ा एलान करते हुए कहा कि अगर राज्य में कांग्रेस की सरकार आती है तो पहले ही दिन किसानों की कर्ज माफी पर विचार किया जाएगा।

सिंहदेव ने आईएएनएस से विशेष बातचीत में कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसानों की कर्ज माफी का ऐलान किया है और उनकी मंशा किसानों की खुशहाली है, लिहाजा राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने पर पहले ही दिन किसानों के कर्ज माफ करने का फैसला होगा।

उल्लेखनीय है कि राहुल ने कांग्रेस की सरकार बनने पर 10 दिनों के भीतर किसानों की कर्ज माफी का ऐलान किया है। सिंहदेव ने कहा कि राज्य की रमन सिंह सरकार ने सिर्फ प्रदेशवासियों से वादे ही किए, उन्हें पूरा नहीं किया, यही कारण है कि इस सरकार के खिलाफ लोगों में असंतोष है और वे कांग्रेस की सरकार बनाने का मन बना चुके हैं।

राज्य की नौजवान पीढ़ी को रोजगार न मिलने का आरोप लगाते हुए सिंहदेव ने कहा, “राज्य सरकार रोजगार देने के वादे करती रही है, लेकिन नौजवान रोजगार के लिए दर-दर भटक रहे हैं। अन्य समस्याएं मुंह बाए खड़ी हैं, गरीबों को न तो जमीन के पट्टे मिले हैं और न ही दीगर सुविधाएं। इसके चलते जमीनी स्तर पर वर्तमान राज्य और केंद्र सरकार के खिलाफ व्यापक असंतोष है।”

कांग्रेस में गुटबाजी और अजीत जोगी के अलग होने से पार्टी को संभावित नुकसान के सवाल पर सिंहदेव ने कहा, “कांग्रेस में गुटबाजी नहीं है। जहां तक जोगी की बात है, वह जब पार्टी में थे, तब भीतर रहकर ज्यादा नुकसान करते थे। अब वह घर से बाहर हैं, लिहाजा उनके जाने से पार्टी को कोई नुकसान नहीं होने वाला।”

यह पूछने पर कि मतदाता आखिर कांग्रेस को वोट क्यों देगा? उन्होंने कहा, “राज्य की रमन सरकार ने जो वादे किए, वे पूरे नहीं हुए। वहीं कांग्रेस ने नौजवानों को रोजगार देने, वनाधिकार अधिनियम का लाभ देने, युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देने, महिला सुरक्षा, बेहतर शिक्षा, स्वास्थ्य सहित अन्य सुविधाएं देने के वादे किए हैं। जनता को कांग्रेस पर भरोसा है, लिहाजा वह वोट देगी।”

प्रादेशिक

मध्य प्रदेश चुनाव से पहले भाजपा ने उठाया चौंका देने वाला कदम, कई बड़े नेताओं को पार्टी से निकाला!

Published

on

भोपाल। मध्य प्रदेश में 28 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव से ठीक पहले भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने चौंका देने वाला कदम उठाया है। यहां सत्तारूढ़ बीजेपी ने पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते 53 नेताओं को पार्टी से निकाल दिया है।

पार्टी सूत्रों के अनुसार, बगावत कर विधानसभा चुनाव के लिए बुधवार को दूसरी पार्टी या बतौर निर्दलीय नामांकन कर पार्टी की मुसीबत बढ़ाने वाले नेताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है।

इन बागियों को मनाने की बुधवार को हर संभव कोशिश की गई थी। पार्टी उपाध्यक्ष प्रभात झा तो डॉ. रामकृष्ण कुसमारिया को मनाने दमोह तक गए, दो घंटे उनके घर पर बैठे रहे, मगर डॉ. कुसमारिया से मुलाकात नहीं हो सकी।

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता डॉ. दीपक विजयवर्गीय ने आईएएनएस को बताया कि पार्टी ने 53 नेताओं को निष्कासित करने का फैसला लिया है। यह निर्णय गुरुवार को लिया गया। आधिकारिक सूची जल्दी ही जारी कर दी जाएगी।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending