Connect with us

राजनीति

इन नेताओं ने अपनी पढ़ाई के बारे में बोला था झूठ, आखिरी नाम जानकर रह जाएंगे दंग

Published

on

भारतीय राजनेताओं की पढ़ाई और उनकी डिग्री देश के लिए शोध का विषय है। शोध इसलिए क्योंकि इनकी डिग्रियों पर जमी भ्रम की परत इतनी मोटी है कि उसकी हकीकत जानने के लिए हड़प्पा की तरह खुदाई करनी पड़ेगी। बहरहाल, आज हम आपको कुछ ऐसे नेताओं की डिग्री के विषय मे बताएंगे जिसे जानने की जिज्ञासा पूरे देश भर के मन मे है। यहां हम आपको कोई मेहनत नही कराएंगे क्योकि हमारी टीम ने पहले ही हड़प्पा के तर्ज पर डिग्री की हकीकत खुदाई करके पता कर ली है। हालांकि डिजिटल जमाने मे हमें मिट्टी की परतों की नहीं बल्कि गूगल बाबा के भंडार की खुदाई करनी पड़ी जो थोड़ा आसान था।

IMAGE COPYRIGHT: GOOGLE

वरुण गांधी – भाजपा नेता वरुण गांधी का दावा था कि उन्होंने लंदन स्कूल ऑफ इकनॉमिक्स से अपनी पढ़ाई पूरी की है। हकीकत निकलकर आई कि उन्होंने अपनी पढ़ाई डिस्टेंस लर्निंग के जरिए पूरी की थी।

IMAGE COPYRIGHT: GOOGLE

ममता बनर्जी – 1991 में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का दावा था कि उनके पास ईस्ट जॉर्जिया यूनिवर्सिटी से डॉक्ट्रेट की उपाधि है। सच सामने आया कि इस तरह की कोई डिग्री अस्तित्व में ही नहीं है।

IMAGE COPYRIGHT: GOOGLE

स्मृति ईरानी – मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी का दावा था कि उनके पास येल यूनिवर्सिटी की डिग्री है। बाद में सच्चाई सामने आई कि उन्होंने अन्य सांसदों के साथ महज 6 दिन का एक कोर्स किया था।

IMAGE COPYRIGHT: GOOGLE

लालू की बेटी मीसा भारती – लालू की बेटी मीसा भारती ने अपने फेसबुक पेज पर फोटो डालते हुए दावा किया कि उन्होंने हार्वड यूनिवर्सिटी में लेक्चर दिया। इस दावे की हवा निकालते हुए हार्वड ने सफाई दी कि मीसा ने कोई लेक्चर नहीं दिया। वो वहां महज दर्शक के तौर पर मौजूद थीं। मीसा पटना मेडिकल कॉलेज से MBBS हैं, और अपनी क्लास की टॉपर भी रही हैं। जबकि 121 सांसद 12वीं या उससे कम पढ़े लिखे हैं।

नेशनल

झारखंड चुनाव परिणाम : रुझानों में झामुमो गठबंधन ने बनाई बढ़त, BJP को झटका

Published

on

झारखंड चुनाव परिणाम के रुझानों में झामुमो, कांग्रेस और आरजेडी का गठबंधन 39 सीटों पर आगे चल रहा है, जबकि बीजेपी 31 सीटों पर आगे चल रही है।

बीजेपी और झामुमो गठबंधन में से किसी को भी बहुमत मिलता नहीं दिख रहा है, ऐसे में 03 सीटों वाली आजसू और 4 सीटों वाले झारखंड विकास मोर्चा सत्ता निर्माण में अहम भूमिका निभा सकती है।

सभी 81 सीटों के शुरुआती रुझान आने लगे हैं, जिनमें से झामुमो, कांग्रेस और आरजेडी का गठबंधन 39 सीटों पर आगे चल रहा है, जबकि बीजेपी 31 सीटों पर आगे चल रही है। बीजेपी और झामुमो गठबंधन में से किसी को भी बहुमत मिलता नहीं दिख रहा है।

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending