Connect with us

नेशनल

गंगा को बचाने के लिए 111 दिनों से अनशन कर रहे जीडी अग्रवाल का निधन

Published

on

जीडी अग्रवाल

नई दिल्ली। 111 दिनों से गंगा नदी को बचाने के लिए अनशन कर रहे पर्यावरणविद प्रोफेसर जीडी अग्रवाल उर्फ ज्ञानस्वरूप सानंद का गुरुवार को निधन हो गया। ज्ञानस्वरुप लगभग 4 महीनों से गंगा एक्ट की मांग को लेकर अनशन पर थे। ज्ञानस्वरुप ने ऋषिकेश स्थित एम्स में अंतिम सांस ली।

एम्स के निदेशक डॉ. रविकांत ने बताया कि स्वामी सानंद ने अपना शरीर एम्स ऋषिकेश के चिकित्सा शिक्षा के छात्रों के उपयोग के लिए दान कर दिया था। उन्होंने बताया कि स्वामी सानंद हाइ ब्लड प्रेशर, हार्निया, कोरोनरी आर्टरी रोग से पीड़ित थे। 111 दिन अनशन पर रहने की वजह से उनकी सेहत और ज्यादा खराब हो गई थी।

जीडी अग्रवाल

गंगा को स्वच्छ करने के लिए अपना जीवन समर्पित करने वाले प्रोफेसर जीडी अग्रवाल का अनशन खत्म कराने के लिए पिछले दिनों केंद्रीय मंत्री उमा भारती उनसे मिलने गई थीं और नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी से उनकी फोन पर बात भी कराई थी। लेकिन प्रोफेसर अग्रवाल ने गंगा एक्ट लागू होने तक अनशन जारी रखने की बात कही थी।

नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि प्रोफेसर अग्रवाल की कुछ मांगें मान ली गईं थीं। सरकार की ओर से आश्वासन लेकर पहुंचे हरिद्वार सांसद रमेश पोखरियाल निशंक ने उनसे अनशन खत्म करने का अनुरोध भी किया था, लेकिन उन्होंने अनुरोध को ठुकरा दिया था। इस बीच, गंगा संरक्षण को लेकर स्वामी सानंद के प्राण त्यागने के बाद ‘मातृसदन’ के प्रमुख परमाध्यक्ष स्वामी शिवानंद ने उनके निधन को हत्या करार दिया है और उनकी मौत की उच्च्स्तरीय जांच की मांग की है।

 

 

नेशनल

BIG BREAKING: लोकसभा चुनाव से पहले सलमान खुर्शीद ने कही ऐसी बात, सुनकर चौंक सकते हैं कई कांग्रेसी!

Published

on

सलमान खुर्शीद

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में अब बहुत कम समय ही बचा है ऐसे में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और कांग्रेस चुनाव के मद्देनजर जोर शोर से तैयारियों में लग गई है।

लेकिन इस बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और यूपीए सरकार में विदेश मंत्री रहे सलमान खुर्शीद ने चौंकाने वाली बात कही है। खुर्शीद का मानना है कि अगले लोकसभा चुनाव में अकेले दम पर उनकी पार्टी का सत्ता में आना बेहद कठिन है। विपक्षी पार्टियों का गठबंधन कांग्रेस को रोकने के लिए नहीं बल्कि भाजपा को रोकने के लिए बनना चाहिए।

पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘अगले लोकसभा चुनाव में भाजपा को हराने के लिए अन्य दलों को भी बलिदान और समझौते करने होंगे। कांग्रेस के सभी नेता अच्छी तरह से समझ गए हैं कि देश की सत्ता को बदलने के लिए गठबंधन बहुत जरूरी है।’

खुर्शीद ने आगे कहा, ‘गठबंधन के लिए जो भी बलिदान, समझौते या बातचीत जरूरी होगा, उसके लिए कांग्रेस तैयार है। यह तभी संभव है जब दूसरे दल भी इस तरह का सामंजस्य दिखाना होगा।’

उन्होंने कहा, ‘आज की स्थिति देखते हुए यह कठिन है। अगर हम अकेले दम पर सरकार बनाने का सोचते हैं, तो उसके लिए हमें पांच साल तक काम करना होगा क्योंकि पिछले तीन साल से कांग्रेस गठबंधन के लिए काम कर रही है। कांग्रेस अब अकेले चुनाव लड़ने के बारे में नहीं सोच सकती। इसके लिए हमें पांच साल तक लड़ना पड़ेगा।’

 

Continue Reading
Advertisement Aaj KI Khabar English

Trending