Connect with us

प्रादेशिक

BREAKING: आध्यात्मिक गुरु देवकीनंदन ठाकुर गिरफ्तार, एससी-एसटी एक्ट पर कर रहे थे प्रेसवार्ता

Published

on

देवकीनंदन ठाकुर

आगरा। एससी/एसटी एक्ट के विरोध में बयान देकर सुर्खियों में आए कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर को आगरा में पुलिस ने नजरबंद कर लिया है। प्रेसवार्ता के लिए रोके जाने पर उन्होंने पीएम मोदी और योगी पर भी सवाल उठाए। मिली जानकारी के मुताबिक उन्हे नजरबंद कर पुलिस लाइन में रखा गया है।

देवकीनंदन ठाकुर

कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर मंगलवार को खंदौली के एक गांव में एससी-एसटी एक्ट के विरोध में सभा करने वाले थे। आपको बता दें कि पुलिस ने किसी प्रकार की अप्रिय घटना को रोकने के लिए उन्हे नजरबंद किया है।

देवकीनंदन ठाकुर को गिरफ्तार करने के लिए बड़ी संख्या में पुलिसफोर्स आई थी। वह शहर के हरी पर्वत में प्रेस वार्ता करने जा रहे थे। वार्ता से ठीक पहले ही पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। इस दौरान पुलिस कप्तान अमित पाठक भी वहां मौजूद रहे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उनकी गिरफ्तारी धारा 151 के तहत की गई है।

एससी/एसटी एक्ट को मूल रूप में बहाल करने के विरोध में कथावाचक देवकीनंदन ठाकुर महाराज लगातार सरकार पर हमला बोल रहे थे। देवकीनंदन ठाकुर ने सरकार को ललकारते हुए कहा था कि दो महीने का वक्त है, वरना हम वह करके दिखाएंगे जो भारत के इतिहास में कभी नहीं हुआ।

मथुरा के रहने वाले देवकीनंदन ठाकुर मूल रूप से एक कथावाचक और एक आध्यात्मिक गुरु हैं। वह भारत के विभिन्न राज्यों के आलावा विदेशों में श्रीकृष्ण की कथाओं का प्रवचन करते हैं।

प्रादेशिक

शादी के 9 दिन बाद ही मारा गया अमर दुबे, विकास दुबे का था दाहिना हाथ

Published

on

कानपुर। उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में एसटीएफ के हाथों ढेर हुए विकास दुबे के दाहिने हाथ अमर दुबे की शादी 29 जून को ही हुई थी। बताया गया है कि अमर दुबे की शादी तय हो गई लेकिन उसके आपराधिक इतिहास का पता चलने के बाद लड़की वालों ने इनकार कर दिया था। इसपर विकास दुबे बीच में आ गए थे और लड़की वालों पर शादी का दबाव डाला था। इसके बाद विकास ने लड़की वालों को बिकरू गांव में घर पर ही बुलाकर 29 जून को अमर की शादी कराई थी।

एसटीएफ ने मुठभेड़ में अमर दुबे को किया ढेर

कानपुर गोलीकांड में शामिल विकास दुबे के दाहिने हाथ अमर दुबे को पुलिस ने मुठभेड़ में ढेर कर दिया है। अमर दुबे पर 25 हजार रु का इनाम था। वारदात के पांच दिन के अंदर ही पुलिस ने उसे ढेर करने में सफलता पाई है। अमर दुबे की लाेकेशन मौदहा के आसपास मिली थी। हमीरपुर पुलिस व एसटीएफ की चेकिंग के दौरान अमर दुबे ने पुलिस पर फायरिंग की। जवाबी कार्यवाई में वो ढेर हो गया। अमर दुबे के पास से ऑटोमैटिक गन व कई हथियार मिले है। कहा जा रहा है कि इसके बाद विकास दुबे कमजोर पड़ गया है और वह किसी भी समय हरियाणा या दिल्ली की कोर्ट में सरेंडर कर सकता है।

पुलिस को अमर के उस इलाके में छिपे होने का संदेह पहले से था क्योंकि उसकी कार औरैया के पास लावारिस मिली थी। पुलिस को अनुमान था कि विकास, अमर के साथ औरैया के चंबल के रास्ते मध्य प्रदेश भागा होगा या बीच में ही कहीं छिपा होगा। पुलिस उस इलाके में सख्त चौकसी कर रही थी। अमर के बुंदेलखंड में होने की सूचना पुलिस को लगी। जिस पर पुलिस ने वहां अमर की घेराबंदी कर ली। इसके बाद यूपी पुलिस व एसटीएफ की संयुक्त कार्यवाई में वो ढेर हो गया।

#vikasdubey #amardubey #marriage #uppolice

Continue Reading

Trending