इथोपियन, स्विट्जरलैंड, मुसलमान, इमाम

नमाज न पढ़नेवालों को जलाकर मार डालो : इमाम

जिनेवा। स्विट्जरलैंड की एक मस्जिद में मुसलमानों के खिलाफ इथोपियाई मूल के एक इमाम पर हिंसा भड़काने का मामला दर्ज हुआ है। आरोप है कि इमाम ने इस्लामी कायदों का पालन न करने वाले मुसलमानों की हत्या किए जाने की अपील की थी। शुक्रवार को जारी बयान में बताया गया कि इमाम पर हिंसा को बढ़ावा देने के साथ-साथ कुछ अन्य आरोपों के तहत मामला दर्ज हुआ है।

रशिया टुडे ने खबर के बारे में बताया है कि इल्जाम है कि 21 अक्टूबर 2016 को स्विट्जरलैंड के विंटरटुअर स्थित अन नूर मस्जिद में इमाम ने लोगों को हिंसा के लिए उकसाया है।

आरोपित इमाम ने वहां मौजूद लोगों से कहा कि जो भी मुसलमान मस्जिद में होने वाली नमाज में शामिल होने से इनकार करते हैं, उनकी हत्या कर दी जानी चाहिए।

उसने नमाज में शरीक न होने वाले ऐसे मुसलमानों को बर्खास्त करने की मांग की है। साथ ही यह भी कहा कि अगर इस कार्रवाई के बाद भी ये लोग नमाज में नहीं आते और इबादत करने से इनकार करते हैं तो उन्हें उनके घरों में जलाकर मार देना चाहिए।

आरोपी इमाम का नाम अभी सार्वजनिक नहीं किया गया है। आरोपित पर सोशल मीडिया की ओर से हत्या का क्रूर वर्णन किए जाने का भी मामला दर्ज किया गया है। साथ ही उस पर बिना परमिट के स्विट्जरलैंड में काम करने का भी मामला है।

पुलिस ने कथित बयान का सबूत मिलने के बाद नवंबर 2016 में ही मस्जिद पर छापेमारी की। आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। तब से ही वह पुलिस हिरासत में है। मामले में इमाम के अलावा तीन अन्य लोगों के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज की
गई है।

जिस मस्जिद में यह घटना हुई, उस पर पहले भी कई बार कट्टरपंथी इस्लामिक गतिविधियों को मदद देने का आरोप लग चुका है। पुलिस पहले भी कई बार इस मस्जिद पर छापा मार चुकी है।  मस्जिद जिस इमारत चल रही थी, उसके मकानमालिक ने किराये का अनुबंध बढ़ाने से इनकार कर दिया था।

इस वजह से जून के आखिर में इस मस्जिद को बंद करना पड़ा। दोषी पाए जाने पर इमाम को स्विट्जरलैंड से वापस इथोपिया भेजा जा सकता है। उस पर 15 साल के लिए स्विट्जरलैंड में प्रवेश न करने का प्रतिबंध भी लगाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें: 5 रुपये का यह उपाय आज रात में करें, पैसा खुद ब खुद आएगा

 

loading...
=>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.