Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

ऑफ़बीट

टॉयलेट का दरवाजा समझकर महिला ने खोल दिया हवाई जहाज के मेन गेट, फिर जो हुआ…

Published

on

नई दिल्ली। इंग्लैंड के मैनचेस्टर एयरपोर्ट उस समय अफरा-तफरी मच गई जब एक महिला ने टॉयलेट का दरवाजा समझकर प्लेन का इमरजेंसी गेट खोल दिया।

घटना पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस के विमान पीके 702 में शुक्रवार को घटी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक महिला को टॉयलेट जाना था लेकिन उसने गलती से इमरजेंसी गेट को टॉयलेट का दरवाजा समझकर खोल दिया।

जिस समय ये घटना हुई उस समय विमान रनवे पर ही था। महिला की बेवकूफी की वजह से फ्लाइट 7 घंटे लेट हो गई जिससे दूसरे यात्रियों को भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

महिला की इस हरकत के बाद विमान में मौजूद सभी यात्रियों को प्लेन से उतार लिया गया और बाद में दूसरे विमान से इस्लामाबाद भेजा गया।

जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान एयरलाइंस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एयर मार्शल अरशद मलिक ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं।

बता दें कि पीआईए कई सालों से घाटे में चल रहा है। पाकिस्तान सरकार इसे सुधारने की कोशिश कर रही है, लेकिन हालात जस के तस बने हुए हैं।

ऑफ़बीट

पृथ्वी का कब होगा अंत? पता लगाने में जुटे वैज्ञानिक

Published

on

नई दिल्ली। दुनियाभर में बढ़ती प्राकृतिक आपदाओं, ग्लोबल वार्मिंग के कारण समुद्र का बढ़ता जलस्तर, वायरस के कारण फैल रही महामारियों के कारण एक दिन इस दुनिया का अंत होना तय है। क्या इंसानी नस्ल इस विनाश से बच पायेगी। इन सब बातों का पता लगाने के लिए नासा के वैज्ञानिक शोध कर रहे हैं।

द सन की रिर्पोट के मुताबिक, नासा के द्वारा शुरू किया गया एक नया मिशन दुनिया के सबसे महत्वपूर्ण सवाल का जवाब ढूंढ़ सकता हैं। नासा का यह शोध शुक्र ग्रह से जुड़ा हुआ हैं।

साइंस फोकस की रिर्पोट के मुताबिक, शुक्र ग्रह कभी धरती की तरह हुआ करता होगा। विशेषज्ञों की माने तो शुक्र ग्रह का ड्यूटेरियम-हाइड्रोजन रेशियो धरती की तुलना में 100 गुना अधिक हैं।

इसके पीछे की वजह ये मानी जा रही हैं कि शुक्र ग्रह पर पानी रहा होगा, जो अब गायब हो चुका हैं। शुक्र ग्रह से जुड़ी एसी गुत्थियों को सुलझाने के लिये नासा कुछ साल बाद 2028 से 2030 के बीच अपना DAVINCI+Veritas Probes रवाना करेगा। शुक्र ग्रह से जुड़े सभी सिद्धांतो का अध्ययन कर धरती के अंत के समय का अनुमान लगाया जा सकेगा।

Continue Reading

Trending