Connect with us

नेशनल

कोरोना प्रबंधन के लिए WHO ने की योगी सरकार की तारीफ़

Published

on

लखनऊ। डब्ल्यूएचओ ने उत्तर प्रदेश में कोरोना की हैंडल करने के लिए योगी सरकार की तारीफ़ की है। डब्ल्यूएचओ कंट्री रिप्रेजेंटेटिव रोडरिको ने कहा कि कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग प्रयासों को आगे बढ़ाते हुए यूपी सरकार की रणनीतिक प्रतिक्रिया प्रशंसनीय है और अन्य राज्यों के लिए एक अच्छा उदाहरण बन सकती है।

आधिकारिक बयान में आगे कहा गया है कि वैश्विक स्वास्थ्य निकाय ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी सरकार द्वारा COVID-19 प्रबंधन के लिए किए गए प्रयासों की सराहना की, विशेष रूप से उच्च जोखिम वाले संपर्कों पर नज़र रखने के लिए। कोरोना सकारात्मक मामलों के उच्च जोखिम वाले संपर्कों तक पहुंचने के लिए 70,000 से अधिक फ्रंट-लाइन स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं ने राज्य भर में काम किया।

डब्लूएचओ की रिपोर्ट के अनुसार उत्‍तर प्रदेश सरकार ने कोरोना पीड़ित मरीजों के सम्‍पर्क में आए 93 प्रतिशत लोगों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग कर कोरोना की रफ्तार पर लगाम कसी है। कोरोना बचाव के लिए यूपी सरकार ने जो कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की रणनीति अपनाई है. मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ की पहल पर स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की ओर से कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए शुरुआत से ही ठोस कदम उठाए जा रहे हैं।

नेशनल

सीएम योगी के मुंबई दौरे से भड़के उद्धव, कहा- किसी को जबरन कारोबार नहीं ले जाने देंगे

Published

on

मुंबई। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने दो दिवसीय दौरे पर मुंबई में हैं। मंगलवार को उन्होंने बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार और सिंगर कैलाश खेर से मुलाक़ात की। इस बीच सीएम योगी के मुंबई में फिल्मी सितारों से हो रही इन मुलाकातों के बीच राजनीतिक गलियारों में हड़कंप मच गया है।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि वह राज्य से किसी को जबरन कारोबार नहीं ले जाने देंगे। उन्होंने स्पष्ट किया कि महाराष्ट्र को किसी की उन्नति से जलन नहीं है, बशर्ते यह निष्पक्ष प्रतिस्पर्धा के तहत हो। उद्धव ठाकरे ने कहा, “हम किसी की प्रगति से नहीं जलते. अगर कोई प्रतिस्पर्धा करके प्रगति करता है तो हमें कोई दिक्कत नहीं है लेकिन आप जबरन कोई चीज ले जाना चाहेंगे तो मैं ऐसा नहीं होने दूंगा।

निवेशकों को आकर्षित करने के लिए अपने राज्य द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली टैगलाइन ‘मैग्नेटिक महाराष्ट्र’ का उल्लेख करते हुए ठाकरे ने कहा कि महाराष्ट्र के पास अपनी संस्कृति और संस्थानों की शक्ति है। ठाकरे ने कहा, “आज कोई व्यक्ति आ रहा है। वे आपसे भी मुलाकात करेंगे और आपको निवेश करने के लिए कहेंगे लेकिन उन्हें महाराष्ट्र की आकर्षण क्षमता का पता नहीं है, यह इतना मजबूत है कि लोग यहां से वहां जाना भूल जाते हैं।

Continue Reading

Trending