Connect with us
https://www.aajkikhabar.com/wp-content/uploads/2020/12/Digital-Strip-Ad-1.jpg

प्रादेशिक

पुलिस ने घर के बाहर खेलने से रोका तो नाबालिग ने मैसेज कर दी सीएम योगी को धमकी, गिरफ्तार

Published

on

लखनऊ। डायल 112 के वॉट्सऐप नंबर पर सीएम योगी को जान से मारने की धमकी देने वाले नाबालिग को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसकी गिरफ्तारी आगरा से हुई है। पूछताछ में उसने बताया कि विद्यालय बंद होने व पुलिस द्वारा घर के बाहर मैच ना खेलने देने से वह नाराज था। जिसके कारण ये मैसेज किया था। नाबालिग के पिता सरकारी प्राथमिक विद्यालय में मास्टर है।

पुलिस प्रवक्ता के मुताबिक आरोपी ने इमरजेंसी हेल्पलाइन व्हाट्सअप नम्बर पर एक संदेश भेजा था, जिसमें उसने अपशब्दों का प्रयोग किया था। इसके अलावा उसने मुख्यमंत्री योगी को धमकी भी दी थी। विवेचना में साइबर सेल द्वारा फोन नंबर की जांच में लोकेशन आगरा की मिली। जिसके बाद सुशांत गोल्फ सिटी थाना प्रभारी सचिन सिंह के साथ टीम ने ग्राम अकोला थाना मांगरोल आगरा से आरोपित नाबालिग को दबोच लिया।

पुलिस का कहना है कि नाबालिग को बाल न्यायालय में पेश किया जा रहा है। इससे पहले भी मई में किसी ने मुख्यमंत्री को धमकाया था और कुछ ही घंटों के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया था।

प्रादेशिक

बढ़ती ठंड को देखते हुए सीएम योगी का निर्देश- जरुरतमंद को बांटे जाएं कंबल, कोई खुले में में न सोए

Published

on

लखनऊ। यूपी में पिछले कुछ दिन पहले निकली धूप ने जहां लोगों को गर्मी का एहसास कराया था तो वहीं पिछले 2-3 दिनों से यूपी में कड़ाके की ठंड ने एक बार फिर दस्तक दे दी है। ऐसे में सीएम योगी ने गरीबों व निराश्रितों को को ठंड से बचाने के लिए अधिकारियों को अहम निर्देश दिए हैं।

सीएम योगी ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि भीषण ठंड को ध्यान में रखते हुए रैन बसेरों के बेहतर संचालन और अलाव की प्रभावी व्यवस्था की जाए। यह भी कहा है कि यह भी ध्यान रखा जाए कि कोई भी व्यक्ति खुले में न सोए। उन्होंने कहा है कि शहरी व ग्रामीण इलाकों में सभी प्रमुख सार्वजनिक स्थलों पर अलाव जलाने की व्यवस्था की जाए। जरूरतमंदों को कंबल भी बांटे जाएं।

मुख्यमंत्री ने शनिवार को समीक्षा बैठक के दौरान कहा कि गरीबों और निराश्रितों को शीतलहर में राहत प्रदान करने के लिए रैन बसेरों की व्यवस्था की है। रैन बसेरों में सुरक्षा और स्वच्छता की समुचित व्यवस्था की जाए। रैन बसेरों के संचालन में कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन किया जाए। जिला प्रशासन के अधिकारियों को अलाव, रैन बसेरा संचालन और कंबल वितरण कार्य की नियमित समीक्षा की जाए।

Continue Reading

Trending