Connect with us

मनोरंजन

सुशांत सिंह राजपूत की होगी साइकोलॉजिकल अटॉप्‍सी, इससे पहले सिर्फ दो लोगों के लिए अपनाया गया ये तरीका

Published

on

मुंबई। सीबीआई ने सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले की जांच अपने हाथों में ली ली है। सीबीआई टीम दिन रात एक करके इस मामले की जांच कर रही है लेकिन वक्त के साथ चीजें और ज्यादा पेचीदी होती जा रही हैं। रोज नए खुलासे हो रहे हैं. इसी बीच जांच को लेकर एक नया शब्द सुनने को मिल रहा है वो है। ‘साइकोलॉजिकल ऑटोप्सी’। ‘साइकोलॉजिकल ऑटोप्सी’ का मतलब होता है अगर किसी व्यक्ति ने आत्महत्या की है तो उस वक्त उसकी मानसिक स्थिति क्या थी।

सूत्रों का कहना है कि सीबीआई सुशांत सिंह राजपूत की साइकोलॉजिकलअटॉप्‍सी करने की तैयारी में है। सीबीआई के सीएफएसएल (केंद्रीय फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला) द्वारा किए जाने वाले इस विश्‍लेषण में राजपूत के जीवन के हर पहलू का विस्तृत अध्ययन शामिल होगा। इसमें सोशल मीडिया पर पोस्ट से लेकर वॉट्सएप चैट और परिवारों, दोस्तों और अन्य लोगों के साथ बातचीत भी होगी।

सीबीआई सुशांत सिंह राजपूत के मिजाज, व्यवहार के पैटर्न और यहां तक ​​कि व्यक्तिगत पहचान के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए भी जांच करेगी। दरअसल सीबीआई सुशांत की मनोवैज्ञानिक स्थिति की तस्‍वीर बनाना चाहती है, जिससे उनकी मौत के कारणों तक पहुंचा जा सके। यह केवल तीसरी बार होगा कि इस तरह की एक जटिल जांच शैली को आजमाया जाएगा। इससे पहले ये दो मामलों में हुआ था. पहला सुनंदा पुष्कर मामले में और दूसरी बार दो साल पहले दिल्ली के बुराड़ी में हुए सामूहिक आत्महत्या मामले में।

#sushantsinghrajpoot #cbi #suicide #psychological autopsy

नेशनल

शिवसेना में शामिल हुईं उर्मिला मातोंडकर, उद्धव ठाकरे भी रहे मौजूद

Published

on

मुंबई। एक्ट्रेस उर्मिला मातोंडकर मंगलवार को पार्टी अध्यक्ष और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की मौजूदगी में शिवसेना में शामिल हो गईं। विधान परिषद के लिए राज्यपाल की ओर से मनोनीत होने वाले 12 सदस्यों में पार्टी उर्मिला मातोंडकर के नाम का प्रस्ताव पहले ही कर चुकी है।

उद्धव ठाकरे की पत्नी रश्मि ठाकरे ने उन्हें ‘शिव बंधन’ बांधकर पार्टी की सदस्यता दिलाई। इस मौके पर उद्धव ठाकरे के अलावा सुभाषा देसाई, अनिल देसाई समेत पार्टी के कई बड़े नेता मौजूद थे।

उर्मिला 2019 में कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा का चुनाव लड़ा था। हालांकि यहां उन्हें भारतीय जनता पार्टी के गोपाल शेट्टी से हार मिली थी, जिसके बाद उन्होंने कांग्रेस छोड़ दी थी।

 

 

Continue Reading

Trending